श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कलेक्ट्रेट सभागार में बुधवार को कलेक्टर शिवम वर्मा ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की समीक्षा की। इस दौरान प्रगति कम पाए जाने पर जनपद पंचायतों में पदस्थ 5 आवास खंड समन्वयको के 5-5 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रगति नहीं बढ़ने पर संविदा सेवा समाप्त करने के लिए नोटिस जारी करने की कार्रवाई होगी। इस मौके पर अमृत सरोवर तालाब, स्वच्छ भारत मिशन तथा वाटरशेड योजनाओं की समीक्षा भी की गई। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक के दौरान एसीईओ जिला पंचायत अजय उपाध्याय, परियोजना अधिकारी विक्रम जाट, पीएस राजपूत, सारिका पाटीदार, राजेश शर्मा, एसबीएम प्रभारी जीएस डोंगरे आदि उपस्थित थे।

कलेक्टर वर्मा द्वारा आवास योजना में कम प्रगति के लिए जनपद पंचायत श्योपुर में पदस्थ आवास खंड समन्वयक रामेश्वरी मालविया, दीपक पाराशर, कराहल में पदस्थ जगदीश कुशवाह, विजयपुर में पदस्थ विनोद धाकड़, पवन ठाकुर का 5-5 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रगति नहीं बढ़ाने पर संविदा सेवा समाप्त करने के लिए नोटिस भी जारी करने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने कहा कि जलाभिषेक अभियान के तहत शुरू किए गए अमृत सरोवर तालाबों का निर्माण 15 जून से पूर्व अनिवार्य रूप से पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने वाटरशेड तथा एसबीएम के तहत संचालित कार्यों की समीक्षा भी की। पीओ मनरेगा विक्रम जाट ने बताया कि अमृत सरोवर के निर्माण का 70 फीसद कार्य माह के अंत तक पूर्ण कर लिए जाएंगे। इसी प्रकार वाटरशेड प्रभारी राजपूत ने बताया कि पूर्व में कराहल में परियोजना के तहत 51 तालाबों का निर्माण कराया गया था। वर्तमान में वाटरशैड परियोजना के तहत विजयपुर विकासखंड में कार्य किया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close