श्योपुर। सरकार किसी की भी हो सांप्रदायिक सद्भाव बचाए रखना मेरी जिम्मेदारी है और मैं इस जिम्मेदारी को भली-भांति निभाने में सक्षम हूं। मेरी सरकार आपकी बात नहीं सुनेगी तो मैं आपकी आवाज बनूंगा। यह बात पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने श्योपुर के जमातखाना में मुस्लिम समाज के विभिन्न संगठनों से संवाद कार्यक्रम में कही।

जिले में वक्फ इंतजामिया कमेटी जमातखाना के सहयोग से शहर काजी अतीक उल्लाह कुरैशी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सिंधिया से कांग्रेस की सरकार में भी उनके साथ भेदभाव करने की शिकायत की गई। अधिकतर आरोप प्रशासन पर लगाए गए। सिंधिया ने कहा कि मुझे इस बात की कोई परवाह नहीं है कि सरकार किसकी है, लेकिन अभिव्यक्ति के अधिकार को नहीं छीना जाना चाहिए, मैं इस का पक्षधर हूं।

कार्यकर्ता बोले, आप उनके यहां जा रहे हो जिन्होंने कांग्रेस को हराया

जिले में प्रवेश पर वीर सावरकर स्टेडियम के बाहर कार्यकर्ताओं ने टेंट लगाकर सिंधिया का स्वागत किया। कार्यक्रम में सेवादल के पूर्व जिला अध्यक्ष संजीव कुशवाह सिंधिया से बोले कि आप उन लोगों के यहां जा रहे हो, जिन्होंने कांग्रेस को हराया है और हम जैसे लोग जो पार्टी के लिए रात-दिन एक कर रहे है उनके यहां आप नहीं जाते। इस पर सिंधिया नाराज होते हुए बोले कि मुझे कहां जाना है, कहां नहीं जाना है यह आप-लोग तय नहीं करोगे, यह तय करना मेरा काम है और वहां से रवाना हो गए।

मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने भाजपाइयों की तुलना महमूद गजनवी से की

प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने डबरा में विवादास्पद बयान दिया है। पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने भाजपाइयों की तुलना विदेशी आक्रमणकारी महमूद गजनवी से करते हुए कहा कि भारत को लूटने आए महमूद गजनवी ने भी शायद सोचा होगा कि थोड़ा बहुत यहां के लोगों के लिए भी छोड़ जाऊं। लेकिन भाजपाई तो उसके भी ग्रांड फादर निकले। पिछली भाजपा सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खजाना खाली करके गए। ऐसी स्थिति में भी कांग्रेस सरकार ने उन वादों को निभाया, जो पार्टी ने चुनाव के दौरान किए थे।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket