श्योपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि) ।कोरोना संक्रमण के इस दौर में हममें से कई लोगों ने किसी न किसी अपने को खोया है। किसी के सिर से पिता का साया हट गया, तो कोई ममता की छांव से वंचित हुआ, किसी ने अपने भाई को हमेशा के लिए खो दिया तो किसी के मन में बहन के दुनिया से विदा हो जाने का दर्द बसा हुआ है। एक कोशिश हम सब कर सकते हैं और वह है प्रार्थना। नईदुनिया द्वारा सर्वधर्म प्रार्थना आयोजित की जा रही है। 14 जून की सुबह 11 बजे आयोजित होने वाली इस प्रार्थना के लिए आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं। आप चाहे अपने कार्यालय में हों या घर पर, आप जहां भी हैं वहां दो मिनट का मौन रखते हुए ईश्वर से प्रार्थना करना है।

वर्जन : फोटो नंबर 4

कोरोना महामारी के चलते जो लोग इस संसार से विदा कर गए है, उनकी अकाल मृत्यु ही हुई है। जो जीव इस संसार से अकाल मृत्यु को प्राप्त करता है उसके सुख के लिए संकीर्तन करना चाहिए, जिससे कि उसकी आत्मा को शांति मिल सके। मैं स्वयं 14 जून को हनुमान मंदिर में बैठकर संकीर्तन करूंगा तथा दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करूंगा।

रामभरोसी महाराज, महंत रामतलाई हनुमान मंदिर

वर्जन : फोटो नंबर 5

कोरोना काल का समय बड़ा विपत्ति का समय था, जिसमें लोग एक दूसरे से नहीं मिल सके। कोरोना महामारी के चलते जो लोग इस दुनिया से रूकसत कर गए उनके लिए मैं अल्लाहताला से दुआ करता हूं कि उन्हें जन्नाात में मकान हासिल हो। 14 जून को नमाज के पूर्व तथा नमाज के वाद में सभी लोगों के सहयोग से अल्लाह से दुआ मांगूगा कि जो रूकसत कर गए उन्हें अल्लाहताला खुशियां प्रदान करें।

हाजी अतीकउल्ला कुरैशी, शहर काजी

वर्जन : फोटो नंबर 6

कोरोना से दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति के लिए सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन रख कर नईदुनिया ने एक सराहनीय पहल की है। मेरी समाज के लोगों से अपील है कि 14 जून को ठीक सुबह 11 बजे सभी कार्य छोड़ कर कोरोना से दिवंगतों को श्रद्धांजलि दें। साथ ही कोरोना योद्धाओं के अच्छे स्वास्थ्य की भगवान से प्रार्थना करें।

बाबा सोनू सिंह महाराज, जत्थेदार श्योपुर गुरुद्वारा

वर्जन : फोटो नंबर 7

14 जून को कलेक्ट्रेट के कर्मचारी 10 और 11 बजे के मध्य नईदुनिया के तत्वाधान में कोरोना महामारी के चलते जो लोग इस संसार से चले गए उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौनधारण कर दिवंगतो के प्रति श्रद्वांजलि अर्पित करेंगे। भगवान की गति के आगे किसी की नहीं चलती है, जो व्यक्ति चले गए उन्हें हम लौटा तो नहीं सकते लेकिन उनके परिजन, छोटे-छोटे बच्चे,किसी की पत्नि, किसी की बहन तो किसी का पति या भाई है उसकी सहायता के लिए जिला प्रशासन सदैव उनके साथ है।

रूपेश उपाध्याय,एडीएम श्योपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags