श्योपुर, बड़ौदा। नईदुनिया न्यूज

रामायण के अनुसार भले ही बुराई के प्रतीक रावण को मारने के लिए भगवान श्रीराम व लक्ष्‌मण सहित श्रीराम सेना को समुद्र पार कर जाना पड़ा हो। वहीं दूसरी श्योपुर जिले के एक गांव फिलोजपुरा में रावण के पुतले को जलाने के लिए भगवान श्रीराम व श्रीराम सेना को नाव में बैठकर जाना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि फिलोजपुरा गांव के बीच में तालाब है और तालाब के बीच में टापू है, जिसमें हर वर्ष दशहरा महोत्सव कार्यक्रम आयोजित होता है।

स्थानीय ग्रामीण सौरभ चौहान के मुताबिक तालाब के बीच स्थित टापू पर हर वर्ष स्थानीय कारीगर सुरेश जागिड़ द्वारा दशानन के पुतले का निर्माण किया जाता है, जो आतिशबाजी के साथ दहन किया जाता है। इससे पूर्व गांव के ठाकुरजी महाराज मंदिर से भगवान श्रीराम दरबार की यात्रा प्रारंभ होती है, जो बैंडबाजों के साथ तालाब तक पहुंचती है, इसके बाद भगवान श्रीराम, लक्ष्‌मण व हनुमान सहित अन्य श्रीराम सेना नाव में बैठकर तालाब के टापू तक पहुंचती है और वहां बुराई के प्रतीक दशानन के पुतले का दहन करती है। वहीं दूसरी ओर जहां जिला मुख्यालय समेत कस्बाई क्षेत्रों में बाहर से आने वाले कारीगरों द्वारा रावण व मेघनाथ के पुतले बनाए जाते है। वहीं दूसरी फिलोजपुरा गांव में स्थानीय कारीगर सुरेश जागिड़ द्वारा पिछले तीस वर्षों से दशानन के पुतले का निर्माण किया जा रहा है।

शहर में 35 फीट का पुतला दहन किया जाएगा :

विजयादशमी उत्सव समिति श्योपुर द्वारा इस साल गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन अनुसार सूक्ष्‌म एवं प्रतीकात्मक रूप में विजयादशमी उत्सव मनाया जाएगा। विजयादशमी उत्सव समिति के अध्यक्ष चेतन खंडेलवाल ने बताया कि इस वर्ष 2021 में विजयादशमी उत्सव प्रतीकात्मक रूप से मनाया जाएगा। शाम 4 बजे से भगवान श्री राम की शोभा यात्रा लक्ष्‌मीनारायण मंदिर टोडी बाजार से प्रारंभ होकर रामतलाई हनुमान मंदिर पहुंचेगी। यहां पुतला दहन व भगवान की आरती के बाद भगवान एवं रामलीला के पात्र मेला मैदान पहुंचकर 35 फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। विजयादशमी उत्सव समिति ने सभी आगन्तुक बंधुओ से मास्क लगाकर एवम कोविड निर्देशों का पालन करने की अपील की है।

प्रतिमा विसर्जन को लेकर एसडीएम ने निरीक्षण किया :

गुरुवार को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन की तैयारियों को लेकर एसडीएम लोकेंद्रसिंह सरल ने बड़ौदा पहुंचकर प्रतिमा स्थापना करने वाली समितियों की बैठक ली। इसके बाद गल्ला मंडी पहुंचकर दशहरा पर रावण दहन के लिए जगह का निरीक्षण कर दशहरा समिति के अध्यक्ष से चर्चा की। इस दौरान एसडीओपी वीरेंद्रसिंह कुशवाह, तहसीलदार अमिता तोमर, टीआइ रावेंद्रसिंह चौहान, सीएमओ ताराचंद्र धूलिया, आरआइ दिव्याराज धाकड़ सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local