sheopur news: श्याेपुर नईदुनिया। गुना जिले में मुठभेड के दौरान बलिदान हुए श्योपुर जिले की वीरपुर तहसील के गोहर निवासी आरक्षक संतराम मीणा पंचतत्व में विलीन हो गए। शनिवार शाम ग्राम गोहर में राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की गई। बलिदानी काे उनके 8 माह के बेटे ने मुखाग्नि दी। इस अवसर पर पुलिस जवानों द्वारा गार्ड आफ आनर दिया गया। राष्ट्रीय ध्वज में लिपटी बलदानी स्व. संतराम मीणा की पार्थिव देह पर उनकी पत्नि वर्षा रावत ने श्रद्धासुमन अर्पित कर अपने वीर बलिदानी पति को अंतिम विदाई दी। इस माैके पर क्षेत्रीय विधायक सीताराम आदिवासी, एडीजी चंबल रेंज राजेश चावला, कलेक्टर शिवम वर्मा, एसपी आलोक कुमार सिंह, एडीशनल एसपी पीएल कुर्वे, एसडीएम विजयपुर नीरज शर्मा, आरआइ राघवेंद्र भार्गव व जनप्रतिनिधियों ने श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रृद्धांजलि दी।

ज्ञात हो कि, गुना में शुक्रवार-शनिवार की रात शिकारियों से मुठभेड़ के दौरान वीरपुर तहसील के गोहर के गांव के आरक्षक संतराम मीणा का बलिदान हो गया। शनिवा दोपहर को पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव लाया गया, जहां बलिदानी संतराम मीणा का तिरंगे में लिपटा हुआ शव उनके पैतृक गांव पहुंचा तो क्षेत्र वासियों ने जय जवान के नारे के साथ शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके शव पर फूलों की वर्षा की और नम आंखों से उन्हें शाम 6:15 बजे घर के पास स्थित उनके खेत में अंतिम विदाई दी।

उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। गोहर निवासी श्रीनिवास मीणा (पिता) एवं विद्या रावत (माता) के घर जन्में बलिदानी आरक्षक स्व. संतराम मीणा 6 भाई-बहन हैं, वें चाैथे नंबर के थे। 31 साल के बलिदानी आरक्षक स्व. संतराम मीणा का विवाह 2020 मं मुरैना जिले की सबलगढ़ तहसील के कुलौली ग्राम निवासी वर्षा रावत के साथ हुआ था। उनके एक 8 माह का बेटा है, जिसका नाम आदित्य है। बड़े भाई जेंडल मीणा व मस्तराम मीणा आर्मी में है। एक भाई शासकीय शिक्षक है एवं सबसे छोटा भाई पढ़ाई कर रहा है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local