वीरपुर। नईदुनिया न्यूज

आबकारी विभाग द्वारा वीरपुर तहसील कस्बे में देशी और बिदेशी शराब की कुल दो दुकानें ठेके पर दी जाती हैं, लेकिन इस इलाके में शराब माफियाओं की सक्रियता और आबकारी व पुलिस विभाग की मिली भगत की वजह से वीरपुर कस्बे ही नहीं बल्कि आसपास के प्रत्येक गांव में अवैध शराब की बिक्री खुलेआम की जा रही है। इस इलाके में ऐसा कोई गांव नहीं है जहां शराब पीने वालों को शराब परोसने की दुकानें नहीं संचालित की जा रही हों। वीरपुर सहराना, चक्क चांदखां, चक्क सीताराम, हारकुंई, बड़ागांव, लीलधा, श्यारदा, धावईपुरा, नितनवांस, पांचों कॉलोनी, गोहर, सीखेड़ा, तेलीपुरा, घूघस और नदीगांव सहित आसपास के हर गांव में देशी और बिदेशी शराब की अवैध दुकानें खुलेआम संचालित की जा रही है। जिसकी जानकारी जिला आबकारी विभाग और पुलिस विभाग के अफसरों को भी है। लेकिन वह इस दिशा में कई कार्रवाई नहीं करते है। जिससे अवैध शराब का यह कारोवार बंद होने की बजाए खुब फल-फूल रहा है और मजदूर और आदिवासी समाज के युवाओं में गांव में शराब बिकने की वजह से शराब की लत बढ़ती जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket