- ट्रंचिंग ग्राउंड का निरीक्षण करने पहुंची कलेक्टर : कम्पोस्ट पिट में पेड़ों की पत्तियां देख कहा दिखावा नहीं काम चाहिए

श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

तुम आपने आपको होशियार ज्यादा समझते हो या हम सबको बेवकूफ? मुझे दिखाने के लिए पेड़ों से पत्तियां तोड़कर कंपोस्ट पिट में डाली हैं, ऐसे ही होगा क्या कचरा प्रबंधन। यह बात कलेक्टर प्रतिभा पाल ने मठेपुरा गांव स्थित ट्रंचिंग ग्राउंड के निरीक्षण के दौरान सहायक यंत्री नंदकिशोर गोस्वामी को फटकार लगाते हुए कहीं।

ट्रंचिंग ग्राउंड पर आने वाले शहर के कचरे को बिना प्रदूषण फैलाए निस्तारण के लिए किए जा रहे प्रयास को देखने पहुंची कलेक्टर ने की जा रही कोताही पर नाराजगी जताई। सबसे अधिक नाराजगी उन्होंने कंपोस्ट पिट में पेड़-पौधों से तोड़ी गई पत्तियां डली होने पर जताई। दरअसल, ट्रंचिंग ग्राउंड में कचरे को जैविक खाद में तब्दील करने की विधि अपनाई जा रही हैं। इसके लिए गीला कचरा और सूखे कचरे को अलग-अलग कम्पोस्ट पिट टैंक में डाला जाता हैं। गीला कचरे से आशय घर में निकलने वाले से उस कचरे से है जो रसोई से बचता है। सब्जियों के बचे अवशेष जो हरे होकर गीले होते हैं, उसे गीला कचरा माना गया हैं। इस कचरे को एकत्रित करने के लिए कचरा गाड़ी में भी अलग से बॉक्स लगाया गया हैं। उस गीले कचरे को कम्पोस्ट पिट में डालना था, जिसे निश्चित अवधि के लिए गड्ढे में बंद कर सड़ाकर खाद बनाना हैं। अधिकारियों ने कलेक्टर के निरीक्षण की खबर मिलने के बाद गीले कचरे से खाली कम्पोस्ट को पेड़ों से तोड़ी पत्तियों से भर दिया। ट्रंचिंग ग्राउंड में बाउंड्रीवॉल नहीं होने पर भी नाराजगी जताते हुए बाउंड्रीवॉल बनाने के निर्देश सीएमओ ताराचंद धूलिया को दिए। इस दौरान एसडीएम रुपेश उपाध्याय, इंजीनियर अशोकलाल गुप्ता आदि मौजूद रहे।

जमीन का उपयोग कर रहे हो तो सड़क बनाने की जिम्मेदारी भी तुम्हारी

ट्रंचिंग ग्राउंड तक पहुंचने के लिए रास्ता नहीं होने पर सीएमओ ने कलेक्टर को बताया कि, यह क्षेत्र नगरपालिका में नहीं आता है। यहां पर ग्राम पंचायत निर्माण इत्यादि के काम देखती है। कलेक्टर ने कहा कि, आपके लिए ग्राम पंचायत क्यों अपना फंड खर्च करेगी। इस जमीन का उपयोग आप अपने लिए कर रहे तो यहां सड़क बनाने की जिम्मेदारी भी आपकी हैं। अभी तक आपने सड़क ही नहीं बनाई। आपके ट्रैक्टर-ट्रॉली कैसे यहां पहुंच रहे होंगे। उन्होंने सीएमओ को निर्देशित किया कि, ट्रंचिंग ग्राउंड तक पहुंचने के लिए कच्ची सड़क का पक्कीकरण और ट्रंचिंग ग्राउंड की बाउंड्रीवॉल तत्काल कराने की व्यवस्था करें।

हॉकर्स जोन और पार्क का लिया फीडबैक

23 जनवरी को शहर के भ्रमण पर निकली कलेक्टर ने बायपास रोड स्थित पार्क की बदहाली पर नाराजगी जताते हुए व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए थे, साथ ही सलापुरा के पास सड़क पर बैठ कर व्यवसाय करने वालों के लिए हॉकर्स जोन बनाने के निर्देश दिए थे। उक्त निर्देश की पालना में क्या काम हुआ इसका फीडबैक भी कलेक्टर ने मौके पर मौजूद सीएमओ से लिया। सीएमओ ने बताया कि, पार्क का काम तेजी से किया जा रहा हैं, हॉकर्स जोन के लिए इंजीनियरों ने एस्टीमेट बना लिया हैं। एक-दो दिन में टेंडर जारी कर निर्माण का काम शुरु कर दिया जाएगा। इसके अलावा शहर की साफ-सफाई के बारे भी फीडबैक लिया।

फोटो :02

कैप्शन : ट्रंचिंग ग्राउंड का निरीक्षण करने पहुंची कलेक्टर।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020