Sheopur News: बड़ौदा (नईदुनिया न्यूज)। थाना बड़ौदा क्षेत्र के पांडोला गांव में स्थित गोराजी महाराज मंदिर पर बीती रात बदमाशों ने तांडव किया। करीब दो घंटे तक आतंक मचाने वाले बदमाशों ने हथियारों की दम पर मंदिर में रहने वाले महंत के न सिर्फ हाथ पैर बांधकर उनके पास रखे दस हजार रुपये और मोबाइल छीन ले गए, बल्कि मंदिर में रखी दानपेटी को कटर से काटकर उसके अंदर रखी राशि को भी समेट ले गए।

वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का फिलहाल कोई सुराग नहीं है, लेकिन इस घटना से क्षेत्र के लोगों में खासा आक्रोश व्याप्त है। यही कारण है कि इस घटना की खबर मिलने पर मंदिर पर श्रद्धालुओं की भीड़ जुट गई। मामले की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची बड़ौदा थाना पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार पांडोला स्थित गोराजी महाराज मंदिर इस क्षेत्र का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यहां दर्शनों के लिए दूर-दूर के श्रद्धालु भी आते हैं। पिछले करीब डेढ़ माह से इस मंदिर की सेवा पूजा का काम 60 वर्षीय महंत रामचरण दास महाराज देख रहे हैं। वे मंदिर के पीछे बने कमरे ही निवास करते हैं।

बताया गया है कि रात करीब 12 बजे के आसपास मंदिर में चार-पांच बदमाश चेहरे पर नकाबबांध कर घुस आये। महंत रामचरण दास महाराज की मानें तो बदमाशों ने आते ही उन्हें जगाया और हथियार दिखाकर उनके हाथ पैर बांध दिए। बदमाशों ने महंत की मारपीट करते हुए उनसे अलमारी का ताला खुलवाया। हालांकि अलमारी में कुछ नहीं मिला, लेकिन महंत के थैले में रखे दस हजार रुपये और मोबाइल लूट लिए।

इसके बाद बदमाश मंदिर में रखी दानपेटी के पास पहुंचे। पहले बदमाशों ने दानपेटी को उठाकर ले जाने का प्रयास किया, लेकिन दानपेटी भारी होने के कारण बदमाशों का प्रयास सफल नहीं हुआ। इसके बाद बदमाशों ने कटर मशीन से दानपेटी काटकर उसके अंदर रखे रुपये समेट लिए।

मामले की खबर मिलने पर जहां पांडोला चौकी पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई। वहीं बड़ौदा टीआइ गोपाल सिंह सिकरवार और एसडीओपी प्रवीण अष्ठाना भी मौके पर पहुंच गए।

दानपेटी में 50 हजार से अधिक रुपये का अनुमान

दानपेटी में कितने रुपये रखे थे, इस बारे में फिलहाल कोई पता नहीं है। क्षेत्र के लोग अनुमान जता रहे हैं कि मंदिर की दानपेटी में करीब 50 हजार से अधिक रुपये होने चाहिए। करीब दो घंटे तक बदमाशों ने मंदिर पर रूककर आराम से वारदात को अंजाम दिया और इसके बाद मंदिर से फरार हो गए। जब सुबह कुछ लोग मंदिर पर पहुंचे, तब उन्होंने महंत के हाथ पैर खोले और इस घटना की सूचना पुलिस को दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close