श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले के नागदा और सलमान्या के साइलो केंद्रों पर इन दिनों बेहद सुस्त गति से गेहूं खरीदी का कार्य किया जा रहा है। इसकी वजह से एक दिन में किसानों का महज 200-250 ट्रॉली गेहूं ही तुल पा रहा है। जिसकी वजह से लाइनों में ट्रैक्टर-ट्रॉ़ली लेकर खडे़ किसानों का गेहूं 2-3 दिनों में तुल पा रहा है। ऐसे हालातों में उन्हें भीषण गर्मी में परेशानियां उठाकर और ट्रैक्टर-ट्रॉलियों का हजारों रुपये अतिरिक्त भाड़ा देना पड़ रहा है।

गुरुवार को देर शाम करीब 7 बजे तक नागदा के साइलो केंद्र पर महज 150 के करीब ट्रॉली गेहूं ही तौला जा सका। इसी तरह के हालात सलमान्या के साइलो केंद्र पर रहे, वहां भी 7 बजे तक 240 के करीब ट्रॉलियों को पार्किंग से अंदर ले लिया गया, जिनमें से 50 के करीब ट्रॉलियों की तुलाई होना बांकी था। साइलो केंद्र के मैनेजर अविनाश द्वारा जानकारी दी गई कि, वह रात 12 बजे तक 300 के करीब ट्रॉली गेहूं तौल देंगे। साइलो केंद्रों पर तुलाई की यह रफ्तार बेहद धीमी है, क्योंकि सुबह 9 से रात 12 बजे तक एक साइलो केंद्र पर करीब 400 ट्रॉली गेहूं बड़ी आसानी से तौल दिया जाता है।

16-17 हजार क्विंटल गेहूं की हो सकी है खरीदी

जिले के नागदा और सलमान्या साइलो केंद्रों पर पिछले रविवार से गेहूं खरीदी का शुभारंभ कर दिया गया था। दो दिन पहले से जिले भर की सोसाइटियों पर भी खरीदी का कार्य शुरु करवा दिया गया है लेकिन, धीमी रफ्तार की वजह से गुुरुवार की रात करीब 7 बजे तक जिले भर में महज 16-17 हजार क्विंटल गेहूं की खरीदी ही हो सकी है। हालांकि, सायलो केंद्र प्रबंधक और खरीदी से जुड़े अधिकारी आगामी 1-2 दिनों में तेज रफ्तार से गेहूं खरीदी किए जाने की बात कह रहे हैं।

साइलो केंद्रों पर एक-एक किलोमीटर के करीब पहुंची किसानों के ट्रैक्टर-ट्रॉलियों की लाइन

नागदा और सलमान्या के साइलो केंद्रों पर रोजाना महज 200-250 के करीब ट्रैक्टर-ट्रॉली गेहूं की खरीदी हो पा रही है। जबकि यहां रोजाना 500-600 किसान ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में गेहूं भरकर पहुंच रहे हैं। जिसकी वजह से केंद्रों पर ट्रैक्टर-ट्रॉलियों की लंबी लाइन रोजाना तेजी के साथ और भी ज्यादा लंबी होती जा रही हैं। गुरुवार को दोनों केंद्रों पर करीब एक-एक किलोमीटर तक लंबी लाइन लग गई। यह लाइनें आगामी दिनों में और भी ज्यादा लंबी हो जाएंगी, जिसे देखते हुए प्रशासन को आवश्यक कदम उठाए जाना बेहद जरुरी है क्योंकि, भीड़ बढ़ने पर कोरोना के संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाएगा।

इनका कहना है

हमारे द्वारा रात 7 बजे तक डेढ़ सौ के करीब ट्रॉली तौल दी गई हैं। 12 बजे तक ढाई सौ के करीब ट्रॉलियां तुल जाएंगी, यह रफ्तार एक-दो दिनों में और भी ज्यादा बढ़ा दी जाएगी, फिर 400 के ऊपर ट्रॉलियां रोजाना तौल देंगे।

पवन कुमार, मैनेजर साइलो केंद्र नागदा।

साइलो केंद्रों से लेकर सोसायटियों तक ठीक तरह से खरीदी का कार्य किया जा रहा है। साइलो केंद्रों पर तो गेहूं उठाव या भंडारण से जुडी कोई दिक्कत होगी ही नहीं क्योंकि, यह सारा कार्य तुलाई के साथ ही वहीं पर हो रहा है, रही बात सोसायटियों की तो वहां अभी इतना गेहूं नहीं खरीदा जा सका है कि गाड़ियां ठीक से भर सकें, जैसे ही गेहूं का स्टॉक बढ़ेगा, वैसे ही हम उठाव भी कराएंगे।

अभय द्विवेदी, डीएम नॉन।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags