श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अलग अलग शादीशुदा प्रेमी जोड़े ने साथ जी नहीं सकते तो साथ मरने की कसम खाकर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। दोनांंे ने 18 सितम्बर से पहले मरने की कसम खाई थी, एक दिन पहले फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। शव जंगल में पेड़ पर लटके मिले। घटना कराहल थाना क्षेत्र के गोरस- रीछि के जंगल की है।

शुक्रवार की सुबह 9:30 बजे कराहल थाना पुलिस को ग्रामीणों ने सूचना दी कि, गोरस -रीछी रोड पर जय नदी के पास जंगल में पेड़ पर युवक - युवती के शव फांसी पर लटके हैं। घटना गुरुवार शुक्रवार रात 3 से 4 बजे के बीच की बताई जा रही है। पुलिस ने शिनाख्त की तो उनकी पहचान दिनेश उम्र 24 वर्ष पुत्र भैरू गुर्जर निवासी वर्धा व कृष्णा उम्र 22 वर्ष पुत्री विजय सिंह गुर्जर निवासी ढेंगदा के रूप में हुई। ढेंगदा निवासी 22 वर्षीय कृष्णा की शादी एक साल पहले ही बर्धाबुजुर्ग गांव में हुई थी। बताया जाता है कि यहां शादीशुदा दिनेश से उसकी नजदीकियां बढ़ीं। गांव में चर्चा है कि 8 सितम्बर को श्योपुर से हर साल की तरह जोेधपुरिया धाम के लिए देवनारायण भगवान की यात्रा ढेंगदा स्थित गुर्जर समाज के मंदिर के रवाना हुई थी। इस यात्रा में दोनों पहुंचे थे और 18 सितम्बर से पहले साथ मरने की कसम खाई थी। दोनों गुरुवार की रात से घर से निकले थे। जब घर वालों को इस बारे में पता चला तो उन्होंने रात भर उनकी तलाश की लेेकिन कहीं पता नहीं चला। सुबह दोनों के शव जंगल में लटके मिले। बताया गया है कि युवती का प्रेमी गुरुवार को तेजाजी के मेला देखने ढंेगदा गंाव में ही आया था और वह दिनभर वहीं रुका। इसके बाद वह रात को युवती को घर से लेकर ले जाकर जंगल में जाकर दोनों ने लड़की के दुपट्ठे से फांसी लगा ली।

वर्जन:

प्रथम दृष्टया मामला प्रेम प्रसंग का दिखाई दे रहा है, लेकिन इस घटना की बारीकी से जांच की जा रही है। फिलहाल मामले में मर्ग कायम कर लिया है।

पीएल कुर्वे, एडीशनल एसपी, श्योपुर

Posted By: Ajaykumar.rawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local