श्योपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बारिश होने से शहर के पर्यटन स्थलों की सुंदरता बढ गई है। इसकारण पयर्टन स्थलों पर पिकनिक मनाने के लिए सैलानियां का पहुंचना शुरू हो गया है। इसके बाद भी पर्यटन स्थलों पर सुरक्षा के कोई इंतजाम नजर नहीं आ रहे है। ऐसे में पर्यटन स्थलों पर हादसों की आशंका बनी हुई है। इसका प्रमाण बीत रविवार को तब सामने आया,जब मोरडूंगरी पर दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए गए एक युवक की नदी में डूबने से मौत हो गई। यही नहीं, बीते सालों के दौरान भी शहर के पर्यटन स्थलों में शामिल मोर डूंगरी, नकच बालाजी, बंजारा डेम, हाथीटीला आदि स्थानों पर कई हादसे हो चुके हैं,जिनमें लोगो की जान तक जा चुकी है।

बॉक्स

पर्यटन स्थल-मोर डूंगरी

शहर के शिवपुरी रोड स्थित कलक्ट्रेट के सामने बहने वाली अमराल नदी में मोरडूंगरी शहर का सबसे प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां श्रावण एवं भादौ मास के दौरान रविवार व सोमवार को सैलानियों की भीड़ उमड़ती है। यहां पिकनिक के लिए आने वाले यह लोग सपरिवार आते हुए सुबह से शाम तक डटे रहते हैं। इस वर्ष भी मोर डूंगरी पर अभी से चहल-पहल शुरू हो गई है जो आगामी सावन-भादौ के महीनों में काफी व्यस्ततम हो जाएगी। लेकिन यहां सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। जबकि यहां कई बार लोग डूब चुके हैं और बाढ़ में फंस चुके हैं, बीते रविवार को भी चार दोस्त नदी में बह गए,जिनमें तीन को तो बचा लिया गया,लेकिन एक युवक की मौत हो गई। इसके बाद भी प्रशासन ने यहां सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए है।

बॉक्स

पर्यटन स्थल नकचा बालाजी स्टाप डैम

शहर के स्टेडियम के पीछे स्थित अमराल नदी पर ही नकचा बालाजी स्टाप डैम भी पर्यटकों का मुख्य आकर्षण का केंद्र है। यहां भी प्रतिवर्ष बारिश के मौसम के दौरान सैकड़ों सैलानी पिकनिक मनाने आते हैं और स्टाप डैम से गिरते झरने और कल-कल बहती अमराल नदी का लुत्फ लेते हैं। लेकिन यहां भी सुरक्षा कोई इंतजाम नहीं है। जबकि इस स्थान पर भी नदी में अचानक से पानी का प्रवाह बढ़ जाने के चलते सैलानियों के उसमें फंस जाने एवं डूब जाने जैसे हालात निर्मित होते रहे हैं।

बॉक्स

पर्यटन स्थल हाथी टीला

शहर के निकट बगवाज क्षेत्र में कदवाल नदी पर स्थित एक और पर्यटन स्थल है हाथी टीला। यहां भी सैलानी एकांत में परिवार के साथ झरने रूपी नदी में नहाने एवं पिकनिक मनाने बढी तादात में आते हैं। यह स्थल भी बारिश के दिनों के दौरान सैलानियों की भारी आवक का गवाह बनता है। लेकिन यह स्थान शहर के एकांत में होने के कारण यहां हादसों की आशंका ज्यादा रहती है। विशेष बात यह है कि अमराल नदी की भांति ही कदवाल में भी पानी की आवक अचानक होती है, जिससे यहां भी कई बार हादसे हो चुके हैं, जिनमें लोगो की जान तक चली गई है। लेकिन इसके बाद भी प्रशासन ने सुरक्षा इंतजाम को लेकर कोई कदम नहीं उठाए है।

बॉक्स

पर्यटनस्थल बंजारा डैम

शहर के बड़ौदा रोड की ओर जाने वाले रास्ते पर सीप नदी पर बना बंजारा डैम भी शहर का पर्यटन स्थल है। यहां पर्यटन विभाग्र द्वारा सुविधा विस्तारित करते हुए इसे एक अहम पर्यटन केन्द्र का स्वरूप भी प्रदान कर दिया है। हालांकि केंद्र तो फिलहाल बंद है, लेकिन ओवर फ्लो होते बंजारा डेम की सुंदरता निहारने के लिए यहां बड़ी संख्या में सैलानी पहुंचते हैं। मगर यहां भी सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। जबकि यहां कई लोग हादसे का शिकार हो चुके है।

वर्जन-

पर्यटक स्थलों पर जाने वाले लोगों को सुरक्षा के लिए सावधानी बरतने ही हिदायत दी जाती है। शहर के मोती डूंगरी पर तो रविवार को उमड़ने वाले भीड़ को देखते हुए नगरपालिका कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाती है। अन्य पर्यटन स्थल पर भी बारिश के समय सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।

लोकेंद्र सरल

एसडीएम, श्योपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close