श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ससुराल से साले के बेटे की जडूली (मुंडन संस्कार) कार्यक्रम में शामिल होकर लौट रहे युवक का मंगलवार की सुबह 10 बजे श्योपुर-शिवपुरी हाइवे किनारे ककरदा चौकी के पास शव पड़ा मिला। घटना की सूचना मिलते ही स्वजन व कोतवली कोतवाली पुलिस शव को पीएम के लिए अस्पताल लेकर पहुंची। स्वजनों ने हत्या की आंशका जताते हुए डेढ़ घंटे तक अस्पताल परिसर में हंगामा किया। देहात थाना पुलिस ने शव का पीएम के कराने के बाद स्वजनों को सौंप दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कालीतलाई निवासी 30 वर्षीय भूरिया पुत्र माईया आदिवासी मंगलवार की दोपहर 2 बजे घर से अपने ससुराल मसवानी गांव में साले के बेटे की जडूली कार्यक्रम में शामिल होने गया था। बुधवार की सुबह वह ससुराल से अपने गांव के लिए निकला था, लेकिन वह गांव नहीं पहुंचा। तभी 10 बजे करीब स्वजनों को सूचना मिली की ककरदा चौकी के पास भूरिया का एक्सीडेंट हो गया, घटना की जानकारी मिलते ही स्वजन व पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस शव लेकर अस्पताल पहुंची और उसका पीएम कराया। पुलिस का कहना है कि, मृतक के सिर चोट के निशान थे, और मौके पर गाड़ी भी क्षतिग्रस्त पड़ी हुई थी। इसलिए पुलिस इसे एक्सीडेंट मान रही है। पुलिस ने मृतक के भाई की शिकायत पर मर्ग कामय कर जांच शुरू कर दी है।

बॉक्सः

पीएम को लेकर पुलिस व स्वजनों के बीच नोक-झोंक

पुलिस शव को पीएम के लिए अस्पताल लेकर पहुंची तो स्वजनों ने पीएम कराने से इंकार कर दिया। स्वजनों का कहना था कि, वह शव का पीएम नहीं कराएंगे। इस बात लेकर स्वजनों अस्पताल में काफी देर तक हंगामा करते रहे। बाद में काफी समझाने के बाद वह पीएम कराने के लिए राजी हुए। इसके पुलिस ने शव का पीएम कराया।

बॉक्सः

स्वजन जता रहे हत्या की आंशका

मृतक के भाई रामकिशन आदिवासी का कहना है कि, किसी ने उसके भाई भूरिया की हत्या की है, उसके सिर में जो चोट का निशान है वह एक्सीडेंट का नहीं है, किसी धारदार हथियार का लग रहा है। दूसरी बात सिर के अलावा में शरीर में दूसरी जगह कहीं चोट नहीं हुई है। बाइक भी ज्यादा क्षतिग्रस्त नहीं हुई है, इसलिए हमे आंशका है कि किसी ने उसकी हत्या की है। स्वजनों ने मामले की जांच कराए जाने की मांग की है।

बॉक्सः

तेंदू पत्ता तोड़ने का काम करता था मृतक

बताया गया है कि, मृतक भूरिया की शादी 10 साल पहले मसावनी गांव में हुई थी। मृतक के 3 लड़की और एक लड़का है। बड़ी बेटे शबनम 8 साल की है और उससे छोटी बेटी अंजली 5 साल, बेटा प्रमोद 3 साल का है। मृतक जंगल से तेंदू पत्ता तोड़ने का काम करता था। इसी से वह परिवार का पालन पोषण करता था।

वर्जनः

- ककरदा के पास सुबह 10 बजे आदिवासी युवक का शव पड़ा मिला है, मृतक की मौत सड़क हादसे में होना लग रही है। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

भारत सिंह गुर्जर

थाना प्रभारी, देहात।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close