श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि।

कूनो में अफ्रीकी चीते आने में चंद दिन ही शेष रह गए हैं। उधर कूनो प्रबंधन तैयारियां पूरी करने में जुटा हुआ है। बाड़े में शेष रह रहे तीन तेंदुओं की लोकेशन नहीं मिल पा रही है, जिस वजह से उन्हें निकालने में परेशानी आ रही है। अब प्रबंधन ने तेंदुओं को निकालने के लिए नए सिरे से ट्रैकिंग सिस्टम जमाया है। प्रोजेक्ट के तहत तहत नामीबिया से आठ चीते (चार नर और चार मादा) आने हैं।

ज्ञात हो कि, कूनो नेशनल पार्क में अफ्रीकी चीतों को लाने के लिए नेशनल टाइगर कंजर्बेशन अथोरिटी (एनटीसीए) के आईजी अमित मलिक भी दो दिन तक कूनो में रहकर प्रोजेक्ट से जुड़ी तैयारियां का जायजा ले चुके हैं। वे चीतों को रखने के लिए कूनो में बनाए गए विशेष बा़ड़े में मौजूद तेंदुओं को जल्द निकाले जाने के निर्देश दे गए हैं। लेकिन चीतों का यह बाड़ा तेंदुओं को इतना रास आ गया है कि वे इसमें से निकलना नहीं चाह रहे हैं। कूनों में काम कर रही टीम इन तेंदुओं को निकालने के लिए पिंजरा रखने के साथ ही बाड़े में बकरा और मुर्गे तक बांध चुकी है, इसके बाद भी तीन तेंदुए बाड़े से नहीं निकल पा रहे हैं। कूनो प्रबंधन ट्रैकिंग सिस्टम को नए सिरे से जमा दिया गया है, ताकि तेंदुओं को ढूंढकर उन्हें जल्द निकाला जा सके। तेंदुआ इस बाड़े से नहीं निकाले जाएंगे, तब तक चीतों को इस बाड़े में छोड़ा नहीं जाएगा। वर्तमान में इस बाड़े में घास ज्यादा ब़ड़ी हो गई है। इसलिए तेंदुओं की लोकेशन नहीं मिल पा रही है। कूनो पार्क प्रबंधन ने बा़ड़े के अंदर बढ़ी घास की कटाई शुरू करवा दी है। कूनो नेशनल पार्क में अफ्रीकी चीतों के लिए 500 हेक्टेयर (5 वर्ग किलोमीटर) का एक विशेष बाड़ा तैयार है, जिसमें 2 से 3 माह तक चीतों को रखा जाएगा। बाड़े में आठ फीट ऊंची फैंसिंग की गई है। पूरे बाड़े में कुल आठ दरवाजे दिए गए हैं, लेकिन चार दरवाजे मुख्य हैं। इसके साथ ही सुरक्षा के लिए चार वाच टावर और चार आटोमेटिक हाइरेज्यूलेशन वाले कैमरे लगाए गए हैं। जिनसे निगरानी रखी जा सकेगी।

अभी तक तिथि निर्धारित नहीं

कूनो नेशनल पार्क में नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका से चीते लाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। चर्चा है कि 15 अगस्त तक कूनो में चीते पहुंच जाएंगे, तैयारियां भी इसी के मुताबिक हो चुकी हैं। हालांकि आधिकारिक रूप से तारीख की घोषणा नहीं हुई है। पहले चरण में चार नर और चार मादा चीते कूनो में आएंगे। अफसरों का कहना है कि, अभी तक राज्य सरकार को कोई प्लान नहीं मिला है।

चीतों के शिकार के लिए तीन में खेप में आए 96 चीतल

अफ्रीकी चीतों के भोजन के लिए कूनो में पेंच टाइगर रिजर्व बांस नाला बोमा टुरिया बीट से चीतल लाए गए हैं। तीन खेप में 96 चीतल अभी तक कूनो में पहुंच गए हैं। लेकिन अभी तक छोड़ा नहीं गया है। क्योंकि बाड़े में तीन तेंदुए रह रहे हैं जिनसे चीतलों को खतरा है। इसलिए तेंदुओं के निकले के बाद ही चीतलों को बाड़े के अंदर किया जाएगा। चीतों के शिकार के लिए कूनो में 600 चीतल आने हैं।

वर्जनः

- कूनो नेशनल पार्क चीतों को लेकर तैयारियां चल रही है। इसमें विशेष बाड़े में शेष बचे तीन तेंदुओं को भी निकालने के लिए हम लगे हुए हैं। चीतों के भोजन के लिए चीतल आ गए हैं। चीतों के लिए नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथारिटी (एनटीसीए) के आईजी दो दिन तक कूनो में रहकर प्रोजेक्ट से जुड़ी तैयारियों का जायजा ले चुके हैं, अभी हमारे पास कोई आदेश नहीं आया है।

पीके वर्मा

डीएफओ, कूनो वन मंडल श्योपुर

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close