श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कूनो नेशपाल पार्क में विगत दिनों हुई तेंदुए की हत्या के मामले में वन विभाग की टीम ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों को गिरफ्तार करने के बाद न्यायालय में पेश किया जहां से तीन की रिमांड पर लिया गया है, वहीं मामला संज्ञान में आते ही जांच के लिए भोपाल से एक टीम गुरुवार रात 9 बजे श्योपुर पहुंची है।

जानकारी के अनुसार वन विभाग के अमले को सूचना मिली कि मरेठा गांव के पास कैर खौ कैम्प से करीब 300 मीटर की दूरी पर बेलिया बीट सबरेंज मदनपुर रेंज मोरावन पश्चिम कोर और बफरजोन की सीमा में लगी तार फैसिग के पास एक तेंदुआ मृत अवस्था में पड़ा हुआ है। तेंदुए के शव को देखने और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पता चला है कि शिकारियों द्वारा तेंदुए की हत्या की गई है। शिकारियों द्वारा पहले तो तार फेंसिंग के बीच क्लिच वायर को बांधा गया, जब तेंदुआ वायर के बीच फंस गया, तो उसके शरीर पर कुल्हाड़ियों से ताबड़तोड़ 10 से 12 बार बार किया गया है। वन विभाग अमले ने तेंदुए का शिकार करने वाले दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम होताम सिंह भिलाला, मोहन सिंह भिलाला निवासी मेरोठा बताया है। वन विभाग की टीम आरोपितों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। देर रात एक पांच सदस्यी टीम भी भोपाल से जांच के लिए श्योपुर आई है।

बॉक्सः

इसलिए किया तेंदुए का शिकार

बताया गया है कि शिकारी तेंदुए के चारों पंजे और मूंछ के बाल काटकर ले गए। तेंदुए के अंगों की अन्तराष्ट्रीय बाजार में लाखों रुपये की कीमत बताई जा रही है। ऐसे में कूनों के जंगल में अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह के सक्रिय होने की पूरी आशंका है। सबसे बड़ी बात है कि, इतनी सुरक्षा होने के बाद तेंदुए जैसे शातिर वन्य प्राणी का शिकार हो सकता है तो चीते आन के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close