श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अब किसानों को जमीन के नामांतरण और बंटवारा जैसे काम के लिए तहसील कार्यालय व पटवारी के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। ग्रामीणों की सुविधा के लिए नायब तहसीलदार राघवेंद्रसिंह कुशवाह प्रत्येक शुक्रवार को गांव में बैठकर उनकी समस्याओं का निराकरण करेंगे। इस दौरान आरआइ और पटवारी भी मौजूद रहेंगे। जिससे नामांतरण आदि के बाद किसान को तुरंत भू-पुस्तिका भी दी जा सके।

यहां बता दें, कि किसानों एवं ग्रामीणों को जमीन से संबंधित छोटे-छोटे काम के लिए तहसील कार्यालयों पर आना पड़ता था। कई बार एक ही काम के लिए उनको कई चक्कर काटने पड़ते हैं। ग्रामीणों की परेशानियों को देखते हुए नायब तहसीलदार कुशवाह ने अच्छी पहल करते हुए अब प्रत्येक शुक्रवार को प्रेमसर, अडवाड और सोंठवा में शिविर लगाने का निर्णय लिया है। शिविर में किसानों के नामांतरण, बंटवारा, नामांतरण की किताब तुरंत बनाकर दी जाएगी।

22 को प्रेमसर में लगेगा पहला शिविर -

तहसीलदार कुशवाह ने बताया कि प्रत्येक शुक्रवार को सोंठवा, प्रेमसर और अड़वाड एक जगह शिविर आयोजित किया करेंगे। पहला शिविर 22 अक्टूबर को प्रेमसर में आयोजित करेंगे। शिविर में आसपास गांव केअ अलावा मजरा-टोला के ग्रामीण किसान शामिल होकर लाभ उठा सकेंगे।

बिचौलिा से मिलेगी निजात -

पहले किसानों को नामांतरण बंटवारा जैसे कामों के लिए किराया खर्चा कर जिला मुख्यालय पर आना पड़ता था, कई बार अधिकारियों के नहीं मिलने से भी उनका काम अटक जाता था और वह निराश होकर वापस लौट जाते थे। एक छोटे से काम के लिए ग्रामीणों को दो से तीन चक्कर काटने पढ़ते थे, लेकिन अब गांव में इन शिविरों के लगने से किसानों को शहर जाकर तहसील के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इससे उनके पैसे समय की बचत होगी और मौके पर ही काम होने से दलालों के हाथों लुटने से भी बच सकेंगे।

वर्जन -

ग्रामीणों व किसानों की समस्याओं को देखते हुए गांव में ही शिविर लगाकर उनकी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। इसके लिए हर शुक्रवार को शिविर आयोजित किए जाएंगे। शिविर लगाने के लिए 3 गांव चुने गए हैं। यहां बैठकर ग्रामीणों के नामांतरण, बंटवारा, किताब बनाने सहित राजस्व संबंधी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा।

राघवेंद्र कुशवाह, नायब तहसीलदार श्योपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local