शिवपुरी। शहर की पॉश कॉलोनी में शुमार श्री राम कॉलोनी में रहने वाले 12वीं के छात्र मयंक बोल और सुन नहीं पाते। 100 फीसदी दिव्यांग मयंक इसके बावजूद अपना हौसला सिर माथे पर रखते हैं। वह एक सामान्य इंसान से किसी भी लिहाज से पीछे नहीं है। इसी हौसले के बूते मयंक ने गणेश भगवान की प्रतिमा तैयार की। वह घर के पास से काली मिट्टी लेकर आए। बाजार से रंग लेकर आए। जिसके बाद उन्होंने अपने हाथों से भगवान गणेश की प्रतिमा तैयार कर डाली। वह भी ऐसी की जो देखते ही बन रही है।

मयंक के घर वाले उनकी इस कारीगरी को देखकर फूले नहीं समा रहे हैं। पिता भूपेश अग्रवाल और मां अर्चना अग्रवाल कहते हैं कि मयंक को हम उसके मन की हर इच्छा पूरी करने देते हैं, और उसने जब गणेश की प्रतिमा तैयार की तो हमारी खुशी का ठिकाना ना रहा। मयंक के घर में अब उसी के हाथों से तैयार की गई गणेश प्रतिमा पूजा के लिए रखी गई है। रोज सुबह शाम आरती की जा रही है, और बारीक बूंदी के लड्डू का भोग भी लगता है। बाजार से सामान लाने और घर मे गणेश बनाने में हल्की मदद उसकी बहन प्रणीता ने की।

Posted By: Saurabh Mishra

fantasy cricket
fantasy cricket