शिवपुरी। कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को अपना नामांकन पत्र शिवपुरी जिला मुख्यालय पर दाखिल किया। गुना से रैली के रूप में पहुंचे सिंधिया के साथ में उनकी पत्नी प्रयदर्शिनी के अलाबा बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे। नामांकन दाखिल करने के बाद सिंधिया ने शिवपुरी में ही एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला।

साध्वी प्रज्ञा भारती के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि ये भाजपा का असली चेहरा है। शहीद को देश द्रोही करार दे रहे है। ये कैसा राष्ट्रवाद है जिसमें उन्होंने 30 साल तक अपने कार्यालय पर देश का झंडा नहीं फहराया? अफजल और मसूद अजहर को प्लेन में बैठाकर अफगानिस्तान तक छोड़ा ! कांग्रेस के घोषणा पत्र के बाद भी किसानों का कर्ज माफ न होने को लेकर उन्होंने कहा कि सभी किसानों का कर्जा आचार संहिता के बाद माफ होगा। यदि माफ नहीं हुआ तो मैं उनके हक की लड़ाई लडूंगा। उन्हें इंसाफ दिलवाऊंगा।

370 पर साधा मौन

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यह सवाल मुझसे पहले भी किया जा चुका है। जम्मू-कश्मीर में भी पत्रकारों ने यह सवाल किया था। मैने कह दिया है कि जो मामला उधातम न्यायालय में हो, उस पर टिप्पणी करना ठीक नहीं है। गुना-शिवपुरी से भाजपा प्रत्याशी केपी यादव द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया को डमी प्रत्याशी कहे जाने पर कहा कि ' वो जो भी बताए उसका स्वागत है। मैं हर प्रत्याशी का मान सम्मान करता हू। प्रजातंत्र में हर प्रत्याशी का सम्मान हमारे धर्म ने सिखाई है।

सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जुमलेबाज बताते हुए कहा कि देश की जनता उनकी जुमलेबाजी पहचान चुकी है। जो कहते हो वो करके दिखाओ नहीं तो जनता बोरी-बिस्तर बांध के रवाना कर देगी।

राकेश चौधरी ने कांग्रेस में शामिल

नामांकन दाखिले के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया की सभा में पूर्व मंत्री व भाजपा नेता राकेश चौधरी कांग्रेस में शामिल हो गए। उन्होंने मंच से ऐलान किया कि वह भाजपा में घुटन महसूस कर रहे थे। उन्होंने कहा जीवन के अंतिम समय तक कांग्रेस व सिंधिया के साथ रहूंगा। भाजपा की कथनी और करनी में बहुत अंतर है। उन्होंने कहा कि भाजपा हिंदुस्तान में एक राजनीतिक दल नहीं है, तानाशाही, हिटलरशाही वाली प्रवृत्ति वाली पार्टी है। धर्म की बात की बात हो बाबाओं को आगे कर देते है। आडम्बरबाज लोग है।

शिवपुरी में नामांकन दाखिल करने आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपना रोड शो गुना में गायत्री मंदिर में सुबह 11.45 बजे दर्शन के साथ शुरू किया। पाटई, म्याना, बदरवास, लुकवासा, कोलारस, पड़ोरा, सेसई, बडौदी, गुना बायपास होते हुए दोपहर 2 बजे शिवपुरी में दाखिल हुए। उनके साथ बाहनों का लंबा काफिला था। निर्धारित कार्यक्रम अनुसार उन्हें खुली जीप में निकलना था, लेकिन महूर्त का समय निकलने के कारण सिंधिया सीधे ही कलेक्ट्रेट पहुंचे। रास्ते में कांग्रेसियों ने उनका जमकर स्वागत किया।

नामांकन दखिल करते समय उनकी धर्म पत्नी प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया, पूर्व मंत्री केपी सिंह, इलेक्शन प्रतिनिधि रमेश अग्रवाल, वस्र्ण कौशिक एडवोकेट, प्रस्ताव व समर्थक साथ रहे। आचार संहिता के चलते उनके काफिले शामिल गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह, इमरती देवी, प्रभुराम चौधरी, तुलसी सिलावट, महेन्द्र सिंह सिसोदिया व अन्य विधायक 100 मीटर के दायरे से बाहर ही रहे।