By Election News (शिवपुरी) केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने गुस्र्वार को करैरा विधानसभा के सिरसौद में जनसभा को संबोधित किया। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की इमरती देवी पर अमार्यदित टिप्पणी पर प्रहलाद पटेल ने कहा कि हमारी संस्कृति में माताओं और बहनों का सम्मान किया जाता है। मेरी मान्यता तो है कि जिस पर भाषाई संयम नहीं होता, मुझे तो उसकी परवरिश पर ही शक होता है। इंसान को कम से कम अपनी बातों से तो शालीन होना चाहिए। आप अपनी विकास की बात करें, विकास के मुद्दे हैैं। आपको किसी का मजाक उडाने की क्या जरूरत है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति की मदद करना अलग बात है और सभी का भला करना बिल्कुल अलग बात है। हमारी नीति सभी के लिए होती है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रहलाद पटेल ने कहा कि कृष्ण के मुंह से गीता सुनना अच्छा लगता है, लेकिन आजकल दुर्योधन भी गीता का पाठ कर रहे हैं। ये लोग ज्ञान की बातें करते हैं।

उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर कहा कि जनता संसद में गौरक्षा के लिए हजारों साधु गए थे तो सैकडों साधुओं की गोली चलाकर हत्या करने वाली कांग्रेस सरकार को कभी माफ नहीं कर सकती। रामजन्म भूमि के कार सेवकों पर जब गोलियां चलीं तो उसकी निंदा करने की हिम्मत भी तुमने नहीं जताई। सरकार ने धारा 370 हटाई तो तुमने उसका समर्थन नहीं किया। यह पाप तुम्हारे सिर से कभी धुल नहीं सकता। इसके साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी से लेकर नरेंद्र मोदी तक की उपलब्धियों को गिनाया। प्रहलाद पटेल जिस प्रत्याशी जसमंत जाटव के समर्थन में सभा करने के लिए गए थे, वे खुद उस सभा में मौजूद नहीं रहे। उसी समय गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की भी करैरा विधानसभा में सभा थी और जसमंत जाटव उसमें मौजूद थे।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस