शिवपुरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट अक्षय कुमार सिंह ने पूर्व नगर पालिका उपाध्यक्ष अनिल शर्मा उर्फ अन्नाी को तीन महीने के लिए जिला बदर कर दिया है। अन्नाी शर्मा पर जिला बदर की कार्रवाई चर्चा का विषय बनी हुई थी। नोटिस देने के बाद उनकी ओर से उनके अभिभाषक ने अन्नाी का पक्ष भी रखा था।

17 जून को अन्नाी शर्मा को नोटिस दिया गया था इसमें उल्लेख था कि पुलिस अधीक्षक शिवपुरी की ओर से आपके विरुद्ध प्रतिवेदन प्राप्त हुआ है, जिसमें उल्लेख किया गया है कि अनावेदक (अन्नाी शर्मा) एक आदतन अपराधी हो गया है। वह दिन आम नागरिकों के साथ रास्ता रोककर मारपीट व गाली-गलौच करना, हत्या का प्रयास करना, एक राय होकर हत्या का प्रयास व शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्ना करना, अवैध हथियार रखने धोखाधड़ी कर अमानत में ख्यानत करने और घर में घुसकर लोगों की मारपीट करना एवं जान से मारने की धमकी देना जैसे संगीन अपराध वर्ष 1996 से वर्ष 2022 तक लगातार घटित करता आ रहा है। मंगलवार को कलेक्टर ने आदेश जारी कर तीन माह के लिए जिला बदर कर किया है। अन्नाी उर्फ अनिल शर्मा निवासी झांसी तिराहा के पास कृष्णपुरम कालोनी थाना कोतवाली को शिवपुरी जिले तथा उसके समीपवर्ती जिले श्योपुर, ग्वालियर, गुना, अशोकनगर, मुरैना व दतिया जिले की सीमा से तीन माह के लिए निष्कासित किया गया है। उल्लेखनीय है कि निकाय चुनाव में अन्नाी शर्मा की पत्नी वार्ड 10 से कांग्रेस की प्रत्याशी हैं।

2013 तक 13 और इसके बाद तीन अपराध दर्ज

जो रिकार्ड कार्रवाई का आधार बना है उसके अनुसार वर्ष 1996 से लेकर वर्ष 2013 तक अन्नाी शर्मा पर 18 अपराध दर्ज है। वहीं 2013 के बाद वर्तमान तक तीन अपराध दर्ज हैं। इसमें धारा 420 का एक मामला है, एक कार्रवाई 188 की है। वहीं एक मामला घर में घुसकर मारपीट, धमकी देना आदि का अपराध है। अन्नाी शर्मा नगर पालिका के पिछले कार्यकाल में नगर पालिका उपाध्यक्ष थे और तब भी उन पर 18 गंभीर अपराध दर्ज थे। पिछले चुनाव के पहले भी अन्नाी शर्मा पर रासुका की कार्रवाई की गई थी जिसमें उन्हें जबलपुर हाइकोर्ट से राहत मिल गई थी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close