शिवपुरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना में जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है। उन बच्चों को यह महसूस न हो कि वह अकेले हैं, उनका अब कोई नहीं है। इसी उद्देश्य से रक्षाबंधन पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बार ऐसे बच्चों के साथ राखी का त्यौहार मनाया। इस दौरान क्षेत्रीय विधायकों ने बच्चों को अपने-अपने स्वेच्छानुदान से बच्चों को सहायता राशि दी। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेश भर में बच्चों ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात भी की। इसी क्रम में उन्होंने शिवपुरी की हर्षा त्रिवेदी, इकरा मिर्जा से बात की।

हर्षा चतुर्वेदी से जब सीएम ने पूछा कि बेटा क्या हाल हैं? तो हर्षा का कहना था कि हाल तो अच्छे हैं, लेकिन मुझे जॉब करनी है, आप मुझे नौकरी दिलवा दो। इस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हर्षा से कहा कि बेटा अभी पढ़ाई करो, इस पर हर्षा ने तुरंत जबाव दिया कि मैं पढ़ाई तो करना चाहती हूं लेकिन साथ ही नौकरी भी करना है। मैं इसी बार यह इसलिए कह रहीं हूं क्योंकि आप इसके बाद मुझसे बात नहीं करोगे। हर्षा ने अपनी बात को सिर्फ यहीं पर खत्म नहीं किया, उसने सीएम से यहां तक भी कहा कि आप मुझसे मना नहीं कर सकते हैं क्योंकि मैं 12वीं पास हूं और मेरी उम्र 18 साल पूरी हो चुकी है।

इस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऐसा है तो वह इस पर विचार करेंगे। हर्षा और सीएम की बात पूरी होने के बाद नईदुनिया ने भी हर्षा से बात की। जब हर्षा से नौकरी करने का कारण जाना तो उसने बताया कि उसकी मां नीलम का 2018 में देहावसान हो गया था और 2021 में कोरोना पिता सूरवीर के लिए काल बनकर आया। अब वह और उसके दो छोटे भाई अपनी बुआ नैनी त्रिवेदी के साथ रहते हैं। फिलहाल तो घर का खर्च बुआ के वेतन से चलता है, लेकिन वह दो या तीन साल बाद सेवानिवृत्त हो जाएंगी। इसके बाद उसकी बुआ और भाईयों की जिम्मेदारी वह कैसे निभाएगी? कार्यक्रम में कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी, पुस्तक निगम के उपाध्यक्ष प्रहलाद भारती, भाजपा जिलाध्क्ष राजू बाथम, जिपं अध्यक्ष नेहा यादव, नपाध्यक्ष गायत्री शर्मा सहित बाल कल्याण समिती की अध्यक्ष सुषमा पांडे, उमेश भारद्वाज, सुगंधा शर्मा, कलेक्टर अक्षय कुमार, महिला बाल विकास अधिकारी देवेंद्र सुंदरियाल, बाल संरक्षण अधिकारी राघवेंद्र शर्मा सहित तमाम अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

घर चलाने मजबूरी में करनी पड़ती है मजदूरी

ग्राम सुरवाया से शिवपुरी आए शनि आदिवासी से जब नईदुनिया ने बात की तो उसका कहना था कि उसका नाम स्कूल में कक्षा 8 में दर्ज है। कोरोना में उसने अपने पिता विमलेश को खोया है। पिता की मौत के बाद अब मां राजकुमारी गांव में ही मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करती है। उसके अनुसार घर का खर्च चल सके इसलिए मां के साथ वह और उसका बड़ा भाई भी मजदूरी करने जाते हैं। तीनों की मजदूरी के बाद ही घर का खर्च चल पाता है। शनि को स्टेज पर बुलाने के बाद सिर्फ गमला और राष्ट्रध्वज ही दिया गया। शनि के अनुसार उसे दस हजार की राशि स्वीकृत होने का प्रमाण पत्र नहीं दिया गया है।

बाहर जाकर तैयारी संभव नहीं, खुद पढ़ाई कर रही हूं

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नरवर की रहने वाली इकरा मिर्जा से भी बात की। इकरा से उन्होंने उसका हाल चाल पूछते हुए उसके भविष्य के सपने के बारे में बात की। इस पर इकरा मिर्जा ने बताया कि वह बीएससी प्रथम वर्ष में है और डाक्टर बनना चाहती है। जब सीएम ने उससे पूछा कि डाक्टर बनने के लिए तो नीट की परीक्षा निकालनी पड़ती है, क्या आपने तैयारी शुरू कर दी है? इस पर इकरा ने उनसे कहा कि वह सेल्फ स्टडी कर रही है। इकरा ने बताया कि उसकी मां सबनम बेगम का पूर्व में ही कैंसर के कारण इंतकाल हो गया था और कोरोना ने पिता समद बेग का साया छीन लिया है। अब वह तीन बहन और एक भाई चाचा नौशाद बेग के साथ रहते हैं। वह डाक्टर बनना चाहती है, लेकिन बाहर जाकर नीट की तैयारी कर पाना इसलिए संभव नहीं है क्योंकि इतना खर्च नहीं उठा सकते। यही कारण है कि उसने ग्रेजुएशन के साथ सेल्फ स्टडी कर नीट की तैयारी शुरू कर दी है।

इन विधायकों ने स्वेच्छानुदान से दी राशि

- शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने अपने स्वेच्छानुदान से अपनी विधानसभा क्षेत्र के 70 बच्चों को 10-10 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की है।

-कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी अपनी विधानसभा क्षेत्र के 27 बच्चों को पूर्व में 5-5 हजार की राशि स्वीकृत कर चुके हैं। उन्होंने एक बार फिर 10-10 हजार रुपये की राशि स्वेच्छानुदान से स्वीकृत की। इसके अलावा शिवपुरी विधानसभा के 70 व पोहरी विधानसभा के 16 बच्चों को स्वयं की तरफ से 5-5 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की।

- पोहरी विधायक सुरेश राठखेड़ा ने अपनी विधानसभा के 16 बच्चों को स्वेच्छानुदान से 5-5 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close