कोलारस। नईदुनिया न्यूज

सुरसा की तरह बढ़ती महंगाई और आवश्यक वस्तुओं के अभाव के कारण गरीबों पर इस समय डबल मार पड रही है। इसकी वजह से गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों की पहुंच से मिट्टी का तेल कोसों दूर हो गया है। सहकारिता एवं खाद्य विभाग की अनदेखी के चलते उपभोक्ताओं को राशनकार्ड पर ही केरोसिन उपलब्ध नहीं हो रहा है। नगरीय व ग्रामीण क्षेत्र की कंट्रोल दुकानों पर व्याप्त अनिमित्ताओं की शिकायतें संबधित अधिकारियों को करने के बावजूद व्यवस्थाओं में सुधार के लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं। इसका उदाहरण मंगलवार रात देखने मिला जब रात में चुपचाप अटरूनी के ग्रामीणों का राशन लुकवासा से पकड़ा गया। उचित मूल्य की राशन की दुकान का गरीबों के हक का यह राशन यहां बेचने के लिए लाया गया था जिसे पुलिस ने पकड़ लिया।

मंगलवार को ही अटरूनी अटरूनी के दर्जनों ग्रामीणों ने एसडीएम को शिकायती आवेदन देते हुए कहा कि उनके हक का राशन सेल्समैन कोलारस में बेच गया। इसके बाद रात में अटरूनी के सेल्समैन द्वारा शासकीय राशन को ट्रैक्टर-ट्राली में भरकर लुकवासा में विक्रय करने के लिए निकला ही था कि ग्रामीणों ने पीछा कर ट्रैक्टर को लुकवासा कस्बे में पकडकर पुलिस के हवाले कर दिया। लुकवासा चौकी प्रभारी योगेंद्र सिंह सेंगर ने कहा कि मंगलवार को बाजार में अटरूनी की शासकीय उचित मूल्य की दुकान का 15 क्विंटल माल बिकने आया था, जिसे ग्रामीणों की सूचना से पकडकर जब्तकर कार्रवाई केलिए कोलारस तहसीलदार व कनिष्ट आपूर्ति अधिकारी को प्रतिवेदन भेजा है।

नीले तेल का काला कारोबार, गरीबों की पहुंच से दूर केरोसिन

उᆬर्जा के साधन के रूप में पहले लकड़ी का प्रयोग होता था लेकिन गरीबों की लकडी सरकार ने छीन ली। लकडी छीन जाने के बाद गरीबों ने दाल रोटी पकाने के लिए केरोसिन का सहारा लिया, लेकिन गरीबों की पहुंच से अब केरोसिन भी बहुत दूर हो गया है। गरीबों के नाम पर आवंटित होने वाला केरोसिन प्रशासन की मिलीभगत के चलते कालाबाजारी की भेंट चढ़ जाता है। उचित मूल्य की दुकानों का केरोसिन बाजार में जा रहा है। यही वजह है कि बाजार में ऊंचे दामों पर ब्लैक में केरोसिन उपलब्ध हो रहा है जिसे गरीब नहीं खरीद सकता। व्यवस्था से पीड़ित जनता शिकायतों से लेकर सड़कों पर जाम तक लगा चुकी है, लेकिन हालातों में सुधार के लक्षण कम ही दिखाई दे रहे हैं। इसके अलावा कोलारस अनुविभाग के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत डोडयाई, अटरूनी, साखनौर, बैढारी, डोडयाई सहित दर्जनों पंचायतों में तो महिनों से राशन नहीं बंटा है।

राशन न मिलने की शिकायतें मिली हैं, जांच कराएंगेः एसडीएम

कोलारस अनुविभागीय अधिकारी ब्रजबिहारी श्रीवास्तव ने कहा कि राशन दुकानों पर राशन वितरित नहीं किऐ जाने की शिकायतें मिली हैं। हम संबंधित दुकानों कि जांच करा रहे हैं। जांच के दौरान यदि अनिमित्ताऐं मिली तो दोषी सेल्समैनों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local