शिवपुरी। दुर्घटना का यह मामला दोपहर बाद जबरदस्त तूल पकड गया। लोगों ने आरोपी बीके माथुर को मौके से ही पकडकर लुकवासा पुलिस के सुपुर्द किया था लेकिन जब पता चला कि पुलिस ने एफआईआर अज्ञात चालक के खिलाफ दर्ज की है तो परिजनों सहित जनता का आक्रोश फूट पडा। मौके पर कोलारस भाजपा विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी भी पहुंच और जमकर हंगामा खडा कर दिया। मामला बिगडता देख एसपी ने टीआई को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया और एफआईआर भी परिवर्तित कर दी गई लेकिन पीएम के बाद विधायक रघुवंशी के साथ बडी संख्या में कार्यकर्ता और स्थानीय लोग शव लेकर कोलारस थाने के बाहर जमा हो गए व धरना शुरू कर दिया। विधायक का कहना था कि जब तक आरोपी टीआई के खिलाफ ज्यूडीशियल जांच के आदेश नहीं होंगे तब तक शव नहीं ले जाएंगे और धरना जारी रहेगा। रघुवंशी का यह भी आरोप है कि कोलारस टीआई सुरेन्द्र सिंह सिकरवार वर्दी की आड में गुंडागर्दी कर रहे हैं। पूर्व में भी कई मामलों में कानून को धता बताकर मनमर्जी कर चुके हैं ऐसे में सिर्फ निलंबन नहीं बल्की उक्त टीआई के खिलाफ ज्यूडीशियल जांच होना चाहिए। हंगामा बढता देख एडिशनल एसपी गजेन्द्र सिंह कंवर और एडीएम आरएस बालोदिया भी कोलारस थाने पहुंच गए और धरना प्रदर्शन कर रहे विधायक व लोगों से समझाईश देकर उन्हें कार्रवाई का आश्वासन देते नजर आए।

फोटो-18 शिव 13, 14, 15

फोटो-कोलारस थाने में शव रखकर प्रदर्शन करते विधायक, भाजपा कार्यकर्ता व अन्य ग्रामीण।