पेंशन लेकर बैंक से बाहर निकलते ही कहा चलो आपकों घर छोड देते हैं इनकार के बाद भी बैठाया, रास्ते में काटी जैकेट की जेब

शिवपुरी। शहर में शनिवार की सुबह सांख्यिकी विभाग के सेनि सहायक निदेशक के साथ ऑटो सवार युवकों ने बडी वारदात को अंजाम दे डाला। घर छोडने की बात कहकर रामानंद बिलगैंया 78 निवासी चित्रगुप्त मंदिर पुरानी शिवपुरी को झांसी तिराहे स्थित पीएनबी बैंक के बाहर से चले ऑटो में वारदात को अंजाम दिया गया। उनकी जैकेट की जेब काटकर 25 हजार रूपए उडा दिए गए। मामले की जानकारी उनके एडवोकेट पुत्र संजीव बिलगैंया ने एसपी राजेश चंदेल को दी। देहात थाने में केस दर्ज किया गया जबकि विवेचना यातायात प्रभारी रणवीर यादव को सौंपी गई। इस मामले में खबर लिखे जाने तक पुलिस ऑटो की तलाश में जुटी थ्ी। हालांकि देहात थाना पुलिस ने केवल केस दर्ज कर इतिश्री कर ली।

दो पहले से बैठे थे, तीसरा भी आ बैठा ऑटो में

रामानंद बिलगैंया ने बताया कि वे घर से पेंशन निकासी के लिए सबसे पहले झांसी तिराहा स्थित एसबीआई शाखा गए थे। जहां से वे जैकेट की जेब में पैसे सुरक्षति रखकर एफडी रिन्यू कराने के लिए पीएनबी शाखा आए। दोनों बैंक पास पास हैं। जब 11 बजकर 6 मिनिट पर बिलगैंया बाहर निकले तो एक युवक आया और बोला बाऊजी चलिए घर छोड देते हैं। ऑटो के पास पहुंचे बिलगैंया ने कहा कि वे पैदल चले जाएंगे लेकिन युवक ने जिद की। इस दौरान ऑटो चालक आगे और आटो में पीछे दो युवक बैठे थे। यह सोचकर बिलगैंया ऑटो में बैठ गए। जैसे ही वे बैठे तीसरा युवक उनके साथ बैठ गया अब ऑटो में पिछली सीट पर चार लोग हो गए थे। रास्ते में कब उनकी जेब काट दी गई। यह उन्हें पता नहीं चला। जब ऑटो से उतरे तो जानकारी लगी तब तक ऑटो भाग निकला था।

हवाई पटटी वीराने में ले जा रहा था ऑटो

बिलगैंया ने बताया कि उन्हें पुरानी शिवपुरी जाना था और वह कहकर भी बैठे थे लेकिन ऑटो चालक उन्हें विजय ट्रेक्टर के समीप हवाई पटटी तक ले गया तब उन्होंने टोका वीराने में कहां ले जा रहे हो। मेरा घर तो पीछे हैं। इस पर ऑटो को वापस लौटाकर आईटीआई चौराहे पर ले आए और यहां आकर बिलगैंया द्वारा दिए गए 10 रूपए लौटा दिए और उतारकर बोला आप दूसरे ऑटो से चले जाएं। हम उधर नहीं जा रहे। जैसे ही बिलगैंया उतरकर नीचे खडे हुए जेब में हाथ डाला तो जेब फटी हुई थी उनका हाथ जेब से बाहर निकल आया। समझते देर नहीं लगी कि 25 हजार उडा दिए गए हैं। तब तक ऑटो दूर जाता दिखाई दिया।

दूसरे ऑटो से किया पीछा, भाग निकला

बिलगैंया ने सजगता का परिचय भी दिया जैसे ही जेब से नोट गायब देखे तुरंत दूसरा ऑटो पकडा और उस ऑटो के पीछे चलने को कहा लेकिन कुछ दूर बाद वह ऑटो कहीं गुम हो गया और फिर नजर नहीं आया। उन्होंने अपने स्तर पर तलाश की और बाद में बेटे संजीव को मामले की जानकारी दी।

सीसीटीवी फुटैज खंगाले

इस घटना के बाद यातायात पुलिस ने सीसीटीवी फुटैज खंगाले हैं। बैंक प्रबंधन से पूछताछ कर बैंक के फुटैज भी तलाशे गए। इस मामले में पुलिस जल्द ही खुलासे की बात कह रही है।

फोटो नाम से-रामानंद बिलगैंया।

Posted By: Nai Dunia News Network