शिवपुरी। स्वास्थ्य मंत्री सिलावट जैसे ही अस्पताल का भ्रमण कर बाहर निकल रहे थे। रवि नामक युवक के साथ एक महिला हाथ में बोतल पकड़े बाहर जाती दिखी। मंत्री ने पूछा तो बोली दो दिन से भर्ती है। दस्त, उल्टी बंद नहीं हो रहे इसलिए निजी अस्पताल जा रहे हैं। जिस पर डॉक्टरों को बुलाकर मंत्री ने उसे भर्ती करवाया और कहा कि इसका बेहतर उपचार किया जाए। मंत्री ने कहा कि अस्पताल में भर्ती अतिकुपोषित मुस्कान का अच्छे से अच्छा इलाज किया जाए और यह हर हालत में बचना चाहिए। उन्होंने डॉक्टरों को निर्देश दिए। मंत्री जब दौरा कर रहे थे सभी डॉक्टर उनके पीछे चल दिए। एक मरीज की हालत बिगड़ गई, मंत्री रूके और डॉक्टरों को निर्देश दिया कि कोई मेरे पीछे नहीं आएगा। इनका उपचार किया जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network