बामौरकला। बामौरकला में राष्ट्रीयकृत बैंक नहीं है, जिस कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां के निवासियों द्वारा लगभग 25 वर्षों से बैंक खोले जाने की मांग की जा रही है लेकिन अभी तक उनकी सुनवाई नहीं हुई है। भिंड-भोपाल स्टेट हाइवे 19 के तहत पिछोर चंदेरी मार्ग के बीचों-बीच बामौरकला स्थित है। यहां राष्ट्रीकृत बैंक न होने के कारण लोग व्यवसाय नहीं कर पा रहे हैं। लोगों को लेनदेन के लिए या तो 20 किलोमीटर दूर चंदेरी या फिर 30 किलोमीटर दूर खनियांधाना जाना पड़ता है, जिससे लोगों को आर्थिक, मानसिक व शारीरिक परेशानी होती है। यहां आने पर घंटों तक बैंक की लाइन में खड़ा होना पड़ता है। अगर इतने में लिंक फेल हो जाए तो बैरंग घर लौटना पड़ता है। यहां निवास करने वाले रहवासियों ने बताया कि उनके पास एटीएम कार्ड तो हैं, लेकिन एटीएम मशीन न होने के कारण वह शोपीस बनकर रह गए हैं। क्षेत्र की जनता ने मंत्री, सांसद, विधायक व कलेक्टर से मांग की है कि जल्द से जल्द राष्ट्र यहां राष्ट्रीयकृत बैंक खोला जाए, जिससे लोगों को सुविधा हो सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना