11 अक्टूबर को जिला कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान स्थानीय लोगों ने पुराना सामुदायिक स्वास्थ केंद्र में पशु अस्पताल शिफ्ट करने का रखा था प्रस्ताव

करैरा स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ भी अस्पताल शिफ्ट कराने के लिए दे चुके थे सहमति

करैरा। नईदुनिया न्यूज

नगर का पुराना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जो आज स्थानीय प्रशासन की अनदेखी लापरवाही रवैये के कारण देखरेख के अभाव में जर्जर हाल में पड़ा है। इसमें आवारा मवेशियों ने इस बिल्डिंग को अपना आशियाना बना लिया है। जहां कभी करैरा का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लगता था। इसके नवीन बिल्डिंग बन जाने शिफ्ट हो जाने से पुरानी बिल्डिंग आवारा जानवरों का ठिकाना बन गई, जबकि इस अस्पताल की बिल्डिंग में जिला कलेक्टर ने क्षेत्रीय विधायक जसमंत जाटव की मौजूदगी में 11 अक्टूबर को इस बिल्डिंग का निरीक्षण कर इस बिल्डिंग में स्थानीय लोगों ने पशु अस्पताल शिफ्ट कराने का प्रस्ताव रखा था। स्वास्थ्य केंद्र करैरा के बीएमओ डॉ. प्रदीप शर्मा ने भी अपनी सहमति दे दी थी। इसके दो माह बीतने के बाद भी इस बिल्डिंग की तरफ जिला व स्थानीय प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया।

करैरा अस्पताल दो साल पहले झांसी शिवपुरी हाइवे रोड पर शिप्ट हो गया है, तब से यह पुराना अस्पताल की बिल्डिंग जीर्णशीर्ण हालात में पड़ी है। अगर जल्द ही इस बिल्डिंग की ओर ध्यान नहीं दिया गया तो यह बिल्डिंग कभी भी कंडम हालात में पहुंच जाएगी। ऐसे एक नहीं कई उदाहरण करैरा नगर में देखने को मिलते हैं। इनकी नवीन बिल्डिंग के तैयार होने के तुरंत बाद ही पुरानी बिल्डिंग में कोई भी देखरेख न होने की स्थिति में लाखों की लागत से बनी बिल्डिंग जीर्णशीर्ण हालात में पहुंच चुकी है।

अगर जल्द ध्यान नहीं दिया तो कभी भी धराशाई हो जाएगी बिल्डिंग

50 साल से ज्यादा पुरानी करैरा अस्पताल की बिल्डिंग आज भी कही से कोई कंडम जर्जर हाल में नहीं है। अगर समय रहते इस बिल्डिंग की तरफ स्थानीय प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया तो वह दिन दूर नहीं होगा इस बिल्डिंग को जर्जर हाल में पहुंचने में जैसा कि आंखों के सामने करैरा नगर परिषद की बिल्डिंग बरसात के समय अपने आप गिर गई थी, जिससे कभी नुकसान स्थानीय लोगों को उठाना पड़ा।

पशु अस्पताल में सब्जी मंडी शिप्ट कराने का स्थानीय लोग जता चुके सहमति

करैरा नगर का पशु अस्पताल को पुराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बिल्डिंग में शिफ्ट कराने और पशु अस्पताल की बिल्डिंग में सब्जी मंडी शिप्ट कराने की जिला कलेक्टर और स्थानीय विधायक के सामने दोनों विभागों के लोगों ने अपनी सहमति दे चुके थे। इस मामले को लेकर पूरे 2 माह बीतने को आ गए, लेकिन अभी तक कोई भी कार्रवाई स्थानीय प्रशासन ने नहीं दिखाई।

इनका कहना है

मैं अपनी सहमति जिला कलेक्टर और करैरा विधायक के सामने रख चुका हूं। यहां पशु अस्पताल वाले आए और अपना इस बिल्डिंग में कार्य शुरू करें। हमें कोई दिक्कत नहीं। अगर इस ओर जल्द ध्यान नहीं दिया तो कभी भी बिल्डिंग जर्जर हाल में पहुंच जाएगी।

डॉ. प्रदीप शर्मा, बीएमओ करैरा।

4 कैप्शन : पुराने अस्पताल की बिल्डिंग जो देखरेख के अभाव में हो रही क्षतिग्रस्त।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan