अर्धसैनिक बलों को मिले शहीद का दर्जा और पुरानी पेंशन

शिवपुरी। पुरानी पेंशन बहाली संघ ने पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। संगठन के जिला संयोजक केपी जैन, वीरेंद्रसिंह रावत द्वारा बताया गया कि पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिकों में 35 से अधिक ऐसे सैनिक शहीद हुए जो पुरानी पेंशन के दायरे में नहीं आते हैं उनके परिवार को पेंशन के नाम पर नाम मात्र की राशि मिलेगी यह न्याय संगत नहीं है। प्रथम बरसी पर तात्या टोपे शहीद स्मारक पर संघ ने श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया तथा कैंडल जलाकर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष जनकसिंह रावत द्वारा कहा गया कि हमारे देश की आन बान शान इनकी वजह से आज देश की सीमा सुरक्षति हैं और हम सब सुरक्षति जीवन जी रहे हैं उन सभी अर्धसैनिक बलों की पुरानी पेंशन और शहीद का दर्जा दिया जाना चाहिए। संगठन ने प्रधानमंत्री से मांग की कि हमारे अर्धसैनिक बलों को पुरानी पेंशन और शहीद का दर्जा दिया जाए साथ ही अन्य कर्मचारियों के साथ भी न्याय किया जाए पुरानी पेंशन बहाल की जाए। बड़े दुर्भाग्य की बात है कि आज तक हमारे पैरामिलिट्री फोर्स के सैनिक को कभी शहीद नहीं माना गया है। श्रद्धांजलि देने वालों में पूर्व सैनिक दिनेश भार्गव, जनकसिंह रावत, वीरेंद्र सिंह रावत, सुल्तान सिंह, जय कुमार शर्मा,नंदकिशोर पांडे, डॉ धर्मेंद्र दीक्षित, मोकमसिंह रावत, राजेश सेन, शुभेंद्र ओझा, राजेश सोनी, मोहनसिंह यादव, अलंकार आग्नेकर, दीपक माझी, सुमित सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket