शिवपुरी-कोलारस। कई महीनों बाद आपका प्यार और आशीर्वाद सिंधिया परिवार के मुखिया को मिला। मैंन कहा है कि मेरी जीवन की पूंजी हैं वह आपका प्यार और आशीर्वाद है। मैं अपने जीवन का त्याग करना पड़ा तो वह आपके लिए करूंगा। जब हम विपक्ष में थे तो जो कहते थे वह करते थे और आज सत्ता में जो कहते हैं व कहकर दिखाऊंगा। जीवन की आखिरी सांस तक आपकी सेवा करूंगा। एक एक व्यक्ति के आवेदन पर सुनवाई की जाएगी। मेरे साथ आए मंत्री व अधिकारी आपकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। राजनीति केवल एक माध्यम हैं उस लक्ष्य की पूर्ति के लिए। कोलारस की जनता से कहूंगा मेैं आपका सांसद नहीं आपके संकट के समय में सरकार या प्रतिनिधि आए या नहीं आए लेकिन आपका मुखिया जरूर आएगा। भावखेड़ी में मनोज बाल्मीक के दो बच्चों की हत्या की गई थी आज उनकी नियुक्ति पत्र दे रहे हैं और उनके घर का आवंटन भी दिया है।

कोलारस में एक किमी पैदल चले सिंधिया

पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार की शाम कोलारस पहुंचे। जनता दरबार लगाने से पहले बस स्टेंड से रेस्ट हाउस के बीच 1 किमी का फासला पैदल चलकर पूरा किया। रास्ते में सैकड़ों तोरण द्वार बनाए गए थे तो वहीं सैकड़ों लोग स्वागत के लिए मौजूद थे। इस दौरान सिंधिया का स्वागत किया गया और फूलों की बारिश भी की गई।

2002 में भी नहीं हुआ था ऐसा स्वागत

भीड़ में मौजूद लोगों का कहना था कि साल 2002 में जब सिंधिया पहली बार कोलारस आए थे तब भी उनका इतना जोरदार स्वागत नहीं हुआ जितना आज हुआ है। लोगों का कहना था कि सिंधिया परिवार के द्वारा ही उनकी समस्याओं का हल किया जाता है। आज स्थिति यह है कि नेता जीतने के बाद उनके बीच तक नहीं पहुंच रहे हैं।

मंत्रियों के साथ सुनी लोगों की समस्याएं

सिंधिया मंत्रियों के साथ रेस्ट हाउस पहुंचे और जनता दरबार लगाया। शिवपुरी की तर्ज पर एक एक व्यक्ति से उन्होंने मुलाकात की और उनकी कठिनाईयां जानने के बाद अधिकारियों को उनके निराकरण के निर्देश दिए। इस दौरान मंत्री प्रघुमनसिंह तोमर, शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, श्रम मंत्री महेन्द्र सिसौदिया, बैजनाथ यादव, रविन्द्र शिवहरे, भरतसिंह यादव, हरवीर रघुवंशी, सोहन गौड़, भूपेन्द्र यादव सहित अन्य नेता मौजूद थे।

फोटो-14 शिव 22, 23

कैप्सन-कोलारस पहुंचे सिंधिया मंच से भाषण देते हुए व रास्ते में सिंधिया सहित मंत्रियों का हुआ स्वागत।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket