महाशिव रात्रि पर शिव भक्ति में डूबे श्रद्धालु, अंचल में धूमधाम से निकाली गई भगवान भोलेनाथ की बारात

जगह-जगह हुए रूद्राभिषेक और जलाभिषेक के आयोजन

शिवपुरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

भगवान शिव की भक्ति का महाशिवरात्रि पर्व शहर सहित अंचल के शिवालयों में धूमधाम के साथ मनाया गया। इस दौरान हर-हर महादेव के नारों से अंचल के शिवालय गूंज उठे। शिव भक्तों ने शिवालयों में पहुंचकर न सिर्फ जलाभिषेक व रूद्राभिषेक कर भोलेनाथ का आर्शीवाद लिया वहीं शहर के शिव मंदिर भी अल सुबह से भक्तों की भीड़ से खचाखच दिखाई दिए। इस दौरान शहर के सिद्धेश्वर मंदिर, चिंताहरण मंदिर, कालीमाता मंदिर, राजेश्वरी मंदिर, मंशापूर्ण मंदिर, शिवधाम, गायत्री शक्तिपीठ, बगिया वाले बाबा मंदिर सहित एक दर्जन से अधिक मंदिरों पर पूजा-अर्चना व अभिषेक कार्यक्रम आयोजित हुए। इसके बाद शाम के वक्त लोगों ने अंचलभर में शिव बारात निकाली वहीं शहर के सिद्धेश्वर मंदिर पर रात्रि जागरण के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महाशिवरात्रि के मौके पर महिला व पुरुष श्रद्धालुओं ने ्‌व्रत व उपवास रखकर महादेव की आराधना की।

सिंगनल ट्रेनिंग स्कूल आईटीबीपी में मना शिवरात्रि पर्व

शिवपुरी। भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल में भी शिवरात्री का महापर्व आईटीबीपी में स्थित शिवमंदिर में मनाया गया। इस अवसर पर मंदिर में शंकर भगवान का अभिषेक कर प्रसाद वितरण किया गया व जवानों ने भजनों की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर संस्थान के प्रमुख एमए बेग सेनानी द्वारा शिवरात्री के पर्व एवं इसके महत्व के संबंध में सभी मौजूद जवानों व उनके परिजनों को बताया। इस मौके पर राजेश कुमार द्वितीय कमान उपसेनानी, के बेंगादेशन उपसेनानी, नरेंद्रसिंह यादव सहायक सेनानी, आनंद दीक्षित एवं प्रशिक्षण संस्था के सभी प्रशिक्षण, प्रशिक्षणार्थी मौजूद रहे।

3 कैप्शन : सिंगनल ट्रेनिंग स्कूल आईीबीपी में शिवरात्रि पर्व मनाते हुए जवान।

--------

बम-बम भोले की गूंज से गुंजा किलेश्वर और गुप्तेश्वर मंदिर

करैरा। करैरा में स्थित किलेश्वर और गुप्तेश्वर मंदिर पर भी महाशिवरात्रि के मौके पर भक्तों की काफी भीड़ रही। इस दौरान पूरा मंदिर प्रांगण में बम-बम भोले की गूंज सुनाई दे रही थी। मंदिर पर दर्शन करने वालों का तांता देर रात तक लगा रहा। शिवसेना के पूर्व जिला उपाध्यक्ष संतोष पंडा, पुजारी शलभ तिवारी ने बताया कि हर साल की तरह इस वर्ष भी कई सांस्कृतिक कार्य्‌रमों का आयोजन किया गया। शनिवार को शिव की बारात नगर के प्रमुख मार्गों से निकाली जाएगी।

1 कैप्शन : करैरा में स्थित किलेश्वर मंदिर पर पूजन-अर्चना करते हुए भक्तजन।

---------

मनपुरा में निकली भोलेनाथ की बारात

मनपुरा। तहसील की ग्राम पंचायत मनपुरा में अन्य स्थानों की भांति महाशिवरात्रि के त्योहार पर भगवान शिव पार्वती का विवाह उत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जिसमें ग्राम पंचायत के प्रमुख मार्गो से भगवान शंकर की बारात निकाली गई। बारात का स्वागत तथा भोलेनाथ का तिलक लगाकर लोगों ने पूजन किया। मनपुरा में स्थित नक्का के बाग से बरात प्रारंभ होकर भगवान चतुर्भुज मंदिर तक पहुंची जहां भगवान के द्वार तिलक के बाद वैवाहिक सभी रस्में पूरी की गई। भगवान को पाणिग्रहण संस्कार में बांधने के बाद प्रसाद आदि का वितरण किया गया। इस अवसर पर महिलाओं ने गौरैया का खेल खेला तो बारातियों को गालियां गाकर भी अन्य रस्मो की अदायगी की।

------

भोलेशंकर की बारात में जमकर थिरके श्रद्धालु

खनियांधाना। महाशिवरात्रि के अवसर पर प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी नगर के प्रसिद्ध पौठयाई मंदिर से भगवान भोलेनाथ की बारात निकली गई। जो नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए सिद्ध स्थान सीता पाठा पहुंची। इसके साथ ही सीता पाठा पर चल रहे महाशिवरात्रि मेले का समापन हुआ। इस दौरान शोभायात्रा में घोड़े पर भगवान भोलेनाथ खुद दुल्हा बनकर बैठे हुए थे वहीं दर्जनों वाहनों में उनके बाराती बनकर विभिन्ना वेशभूषा में ट्रेक्टर ट्रालियों पर भक्तगण झूमते नाचते हुए चल रहे थे। इस मौके पर जगह-जगह ठंडाई व प्रसाद का वितरण कर शिव बरात का स्वागत किया गया।

10 कैप्शन : भोलेशंकर की बारात के दौरान घोड़े पर सवार भगवान शिव।

-------------

बामौरकला में आतिशबाजी व ढोल-नगाड़ों के साथ निकली शिव बारात

खनियांधाना तहसील के बामौरकला कस्बे में महाशिवरात्रि महोत्सव के दौरान शिव बारात का आयोजन किया गया। भगवान शंकर की यह बारात रामेश्वरम भक्तिधाम मंदिर से आरंभ होकर नगर का भ्रमण करते हुए वापस मंदिर पर जाकर समाप्त हुई। इस दौरान बारात का मुख्य आकर्षण ढोल, नगाड़े, आतिशबाजी के साथ राई नृत्य एवं नागा साधुओं का प्रदर्शन रहा। अंत में ठंडाई व प्रसाद का वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन महेश नौगरैया द्वारा किया गया।

9 कैप्शन : बामौरकला में निकलती शिव बारात।

Posted By: Nai Dunia News Network