शिवपुरी। संकट की इस घड़ी में कई कदम लोगों की मदद के लिए आगे बढ़े हैं। इन्हीं में शामिल शहर के एक युवा व्यवसायी ने आगे आते हुए नगर में कफ्युढ के दौरान ड्यूटी पर तैनात सैकड़ो पुलिसकर्मियों, कर्मचारियों और अधिकारियों को मुफ्त चाय पिलाने का बीड़ा उठा लिया है। शुक्रवार से वे मुफ्त चाय के साथ-साथ बिस्किट का पैकेट भी इन सभी को उपलब्ध करवाएंगे। शहर के राजमंगल डेवलपर्स के संचालक जिनेश जैन ने यह बीड़ा उठाया है। वे अपनी कार में बैनर लगाकर निकलते हैं और सुबह 6 से 8 बजे शाम को 3 से 5 बजे और फिर रात को 10 से 12 बजे पुलिसकर्मियों और अधिकारी-कर्मचारियों के बीच जाकर चाय पिलाते हैं। यह सभी जिस जगह पर ड्यूटी पर तैनात हैं, जिनेश कार से उनके बीच पहुंचते हैं और सभी को चाय उपलब्ध कराते हैं। जैन ने बताया कि अब वे चाय के साथ-साथ पांच रुपए वाला बिस्किट का पैकेट भी अपनी तरफ से निःशुल्क चाय के साथ दिया करेंगे।

फोटो : 26 शिव 1

कैप्शन : कोरोना आपदा के दौरान पुलिसकर्मियों और कर्मचारियों को इस वाहन के माध्यम से मुफ्त चाय पिलाते हैं जिनेश जैन

स्वास्थ्य प्रबंधन पर लगातार उठ रहे सवाल

शिवपुरी। शहर के युवक के कोरोना पॉजीटिव आने और आज खनियांधाना युवक की रिर्पोट पॉजीटिव आने के बाद लोगों में इस बीच जिला स्वास्थ्य महकमे की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। अस्पताल में भर्ती दोनों युवक सहित निगरानी में रखे गए नगर के परिजनों को ठीक से आहार उपलब्ध न होने की बात सामने आ रही है तो वहीं नगर के लोगों का कहना है कि समय रहते जिला स्वास्थ्य महकमा गंभीरता नहीं बरत रहा जिसके नतीजे में हालात बिगड़ सकते हैं। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि हम अपने मिशन पर लगे हुए हैं। किसी को घबराने की कोई बात नहीं है। हम लोगों के सहयोग से ही कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। इधर लोगों ने युवक और उसके परिजनों के अलावा खनियांधाना में युवक के पिता सहित करीब अन्य एक दर्जन लोग जिन्हें संदिग्ध माना गया है। उन सभी को सुरक्षा के बीच घरों में नजरबंद रखने की मांग उठने लगी है। खनियांधाना के लोग आज दिनभर यही मांग दोहराते नजर आए। खनियांधाना के बीएमओ ने समीर, उसके पिता सहित अन्य 12 लोगों का परीक्षण किया था और करीब 6 दिन पहले से उन्हें घरों में रहने की हिदायत दी गई थी, लेकिन अब जबकि समीर का सेंपल पॉजीटिव आया है इसलिए लोगों का कहना है कि इन सभी के संपर्क में आए लोगों की जांच कराई जाना चाहिए।

शहर के कई इलाकों में गंभीर जल संकट, नलकूप की मोटर खराब, लोग परेशान

शिवपुरी। इन दिनों जिला प्रशासन के आला अधिकारियों का पूरा ध्यान कोरोना संकट से निपटने पर केंद्रित है तो वहीं नगर पालिका के अधिकारी और कर्मचारी अपनी कसौटी पर खरा नहीं उतर रहे। उनकी लापरवाही का नतीजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। शहर के कई इलाकों में बीते 8 से 10 दिनों में नलकूप की मोटर खराब पड़ी हुई है, जिनका संधारण नहीं कराया जा रहा। लोग परेशान हैं। शहर के कमलागंज की बात करें तो सब्जी मंडी के पास स्थित दो नलकूप फिजीकल के इलाके के चार तथा झींगुरा सहित कुछ अन्य नलकूप की मोटर खराब है जिन्हें अब तक नहीं बदला गया है। नगर पालिका के कर्मचारियों का कहना है कि जिस ठेकेदार को मोटर बदलने की जिम्मेदारी दी गई है वह साधन और संसाधन न होने का रोना रो रहा है। नतीजे में मोटर बदली नहीं जा सकी हैं। ऐसे में जल संकट गहरा गया है।

वार्ड 19 में जल संकट, तोड़ डाले नल कनेक्शन

शहर के वार्ड क्रमांक 19 में मड़ीखेड़ा के नए कनेक्शन देने के लिए गड्डे खोदे गए जिसके चलते पुराने कनेक्शन तोड़ डाले गए हैं, जबकि यहां के नलकूप के मोटर भी खराब पड़ी हुई है। बीते 6 दिनों से मोटर खराब है। बदले न जाने से लोगों को परेशानी हो रही है। वार्ड निवासी एडव्होकेट गजेंद्र यादव ने बताया कि नपा के सीएमओ केके पटेरिया फोन नहीं उठाते। कभी उठाते भी हैं तो मीटिंग में होने की बात कहते हैं। जबकि दूसरी तरफ इतने बड़े संकट के दौरान कलेक्टर, एसपी तक फोन उठा रहे हैं, लेकिन सीएमओ का रवैया लापरवाही भरा होने के चलते वार्ड में जल संकट गहरा गया है। उन्होंने नगर पालिका के प्रशासक कलेक्टर अनुग्रह पी से नगर के विभिन्ना हिस्सों में व्याप्त जल संकट पर भी ध्यान देने की अपील की है।

मजबूर हुए तो घरों से निकलेंगे लोग

एडवोकेट यादव ने कहा कि कोरोना से बचने के लिए लोगों का घरों में रहना जरुरी है, लेकिन सभी को नियमित रूप से सामग्री मिलती रहे। यह देखना भी प्रशासन का काम है। पेयजल जैसी आवश्यकता की पूर्ति न हुई तो मजबूरी में लोगों को पानी की तलाश में घर से निकलना पड़ेगा। ऐसे में परेशानी बढ़ेगी। इसलिए नगर पालिका को चाहिए कि वह युद्ध स्तर पर शहर के वार्डों में खराब नलकूप की मोटर तत्काल बदले।

वार्ड 31 में गहराया जल संकट

वार्ड 31 में भी नलकूप की मोटर खराब होने की जानकारी सामने आ रही है जिससे अशोक बिहार कॉलोनी और विवेकानंद पुरम में जल संकट गहरा गया है। बीते 8 दिन से मोटर खराब होने की बात लोगों ने कही है। उनका कहना है कि नलकूप की मोटर जल्द ठीक कराई जाए।

वार्ड क्रमांक 3 में भी मोटर खराब

शहर के वार्ड क्रमांक 3 की एक मोटर खराब होने से शास्त्री नगर औेर गांधी नगर के लोग परेशानी में आ गए हैं। उन्हें पानी नहीं मिल पा रहा है। स्थानीय लोगों ने मोटर जल्द ठीक कराने की मांग की है।

पवार हाउस मे काम कर रहे आदित्य त्रिपाठी की करंट से मौत

पिछोर। जिले के पिछोर कस्बे में आ रही हैं कि कस्बे के तहसील मोहल्ला में निवास करने वाले मप्र विद्युत मंडल में ऑपरेटर के पद पर कार्य करने वाले आदित्य त्रिपाठी की करंट लगने से मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार आदित्य त्रिपाठी उर्फ छोटे भाई उम्र 28 गुरुवार दोपहर 12ः30 पर पिछोर नगर के चुंगी नाके के पास स्थित पवार हाउस में डीपी में काम कर रहा था। तभी अचानक काम करते हुए आदित्य को करंट का झटका लगा। बताया जा रहा हैं कि आदित्य को करंट लगते ही घटनास्थल पर ही मौत हो गई। डीपी में करंट आ रहा था कि अचानक से करंट आया हैं। किसकी लापरवाही से यह घटना हुई। अभी अधिकारी कुछ बताने से बच रहे। युवा आदित्य की मौत की खबर के बाद पिछोर में महौल शोकाकुल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket