प्रशासन की अनदेखी से नहीं हो रहा नियमों का पालन

करैरा। नगर परिषद करैरा के कालीमाता मंदिर के पास लगने वोली अघोषित सब्जी मंडी में दुकानदार कोरोना वायरस संक्रमण रोग से बचने के लिए सभी नियम कानून को दरकिनार करते हुए भेड़ बकरियों की तरह भीड़ को जमा कर सब्जी, फल की दुकानों को लगा रहे हैं ऐसी भीड़भाड़ ली जगहों पर यह संक्रमण रोग बहुत जल्दी से फैलता है। इसके बाद भी यह दुकानदार अपनी व तमाम लोगों की जान जोखिम में डाल कर इस संक्रमण रोग से बचने के लिए कोई बचाव न करते हुए सभी की जान से खिलवाड़ कर रहे है न यह हाथों में गिलप्स, मुंह पर माक्स इसके अलावा दुकानों पर आने-जाने वाले तमाम लोगों से मिलने के बाद जो सैनिटाइजर साबुन से हाथ धोना है यह वह भी नहीं कर रहे है और तो और एक मीटर का डिस्टेंस भी नहीं बनाए है जो सुरक्षा की दृष्टि से बहुत जरूरी है। करैरा नगर में लगने वाली सब्जी मंडी की भयानक स्थिति को देखते हुए लोगों में भय का माहौल बना है इसके बाद न प्रशासन कोई सख्ती अपना रहा है और न ही पुलिस प्रशासन आज हमारी यह अनदेखी और लापरवाही कल हमारे लिए खतरनाक साबित होगी अभी भी समय है कोरोना संक्रमण वायरस से जीतना है तो नियमों का पालन करें।

सब्जी मंडी एक दम से टूट रही लोगों की भीड़, नहीं कोई इंतजाम

करैरा प्रशासन कोरोना संक्रमण रोग से लोगों को बचाने के लिए लोगों को समझा रहा है इसके बाद भी नगर में जगह-जगह पर लगने वाली सब्जी, फलों ंकी दुकानों पर भीड़ जमा हो रही है इसके लिए सब्जी मंडी में कोई इंतजाम प्रशासन के नहीं है। 22 मार्च को जनता कर्फ्‌यू लगा इसके बाद 23 मार्च से लॉक डाउन है तभी से लेकर आज दिनांक तक सब्जी मंडी में लोंगो की भीड़ सुबह सुबह बिना किसी वजह के भी सड़कों पर घूमते नजर आ रहे हैं।

मेडिकल स्टोर, किराना परचूनी की दुकानों पर भी लग रही भीड़

जहां एक ओर करैरा प्रशासन कोरोना नामक संक्रमण रोग से बचाव के लिए दिन रात एक करने में लगा हुआ है। वहीं कुछ लोग प्रशासन की मेहनत पर पानी बहाने में लगे हैं जिसका जीता-जागता उदाहरण हमें नगर में स्थित तमाम मेडिकल स्टोरों, परचूनी किराना की दुकानों पर देखने को मिलता है। यहां पर मौजूद भीड़ से लोगों को जान का खतरा बना है। इसके बावजूद दुकानदार अपने लाभ के चक्कर में लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। प्रशासन भी इस पर गंभीरता से एक्शन नहीं ले रहा है जिसके चलते भीड़ भाड़ जैसे इलाको में इस संक्रमण रोग के फैलने का लोंगो में भय का माहौल पैदा बना है।

सरकारी पीडीएस की दुकानों पर लग रही भीड़

करैरा नगर सहित ग्रामीण अंचलों में शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर आज जो खाद्यान्ना वितरण किया गया। इस खाद्यान्ना वितरण के समय लोगों की काफी भीड़-भाड़ देखने को मिली। इससे भी संक्रमण रोग कोरोना वायरस के फैलने का अंदेशा बना हुआ है। पीडीएस की दुकानों पर बैठने वाले सेल्समैन न तो मुंह पर मास्क लगाए हुए थे और न ही हाथों में गिलप्स पहने हुए थे। यह शासन प्रशासन के सभी नियम कानून को दरकिनार करते हुए उचित मूल्य की दुकानों के सेल्समैन इस महामारी से बचने और बचाने से परहेज नहीं कर रहे हैं।

नगर परिषद के कर्मचारियों ने दुकानदारों को दी डिस्टेंस बनानी की चेतावनी

करैरा नगर परिषद के सीएमओ दिनेश श्रीवास्तव ने अपनी टीम के साथ प्रत्येक दुकानों पर जाकर दैनिक उपयोग में इस्तेमाल होने बाली दुकानों पर दुकानदारों को सख्त लहजे में चेतावनी दी और दुकान के आगे ग्राहकों को खड़े होने के लिए चूना डाल कर एक मीटर का डिस्टेंस बनाकर चिन्ह चिन्हित किया। इसमें खड़े होकर ही सभी दुकानदार ग्राहकों को सामान दे अगर कोई ऐसा नही करता है तो कार्रवाई की जाएगी ।

इनका कहना

हम इस महामारी के संबंध में लोगों को काफी समझा रहे हैं और जो नियमों का पालन नहीं करते हैं उन पर सख्ती भी करते है। पहले तो हमारी यही कोशिश रहती है लोग हमारा सहयोग करें अगर ऐसा करते है तभी हम और आप चेन से रहेंगे, कोरोना वायरस से बचने के लिए लॉक डाउन में घर से बाहर न निकले घर मे ही बंद रहे।

मनोज गरवाल, एसडीएम करैरा

फोैटो : 26 शिव 6

कैप्शन : पीडीएस की दुकान पर लगी लोगों की भीड़।

विदेश और देश घूमकर आए लोग किए घरों में नजरबंद

शिवपुरी। जिले के विभिन्ना स्थानों पर रहने वाले कुछ लोगों की सूची बीते रोज वायरल की गई थी। यह लोग देश के विभिन्ना हिस्सों सहित विदेश घूमकर आए थे। इन सभी को घरों में नजरबंद कर दिया गया है साथ ही लोगों से अनुरोध किया है कि इन लोगों के संपर्क में न रहें। कोलारस इलाके के करीब 24 लोगों को नजरबंद किया गया है औेर इनकी निगरानी के लिए पटवारी सचिव सहित शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। जिले की दीगर तहसीलों में भी किसी तरह कुछ लोगों को घरों में नजर बंद किया गया है। कलेक्टर ने तहसीलदारों को इस संबंध में निर्देशित किया था जिसके बाद लोगों को उनके घरों में रहने और उन पर निगरानी रखने के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है, लेकिन शिक्षकों का कहना है कि वे निगरानी करने के दौरान गांव में कहां रहेंगे और उनका खाने-पीने का प्रबंध किस तरह होगा इसे लेकर कोई दिशा-निर्देश आदेश में नहीं है। जिसको लेकर शिक्षकों में असंतोष गहरा गया है।

अंचल में टूट रही भीड़, लॉक डाउन बेअसर

शिवपुरी। जिला प्रशासन ने शहर में लॉकडाउन करने के लिए बेहतर कदम उठाए हैं, लेकिन अंचल में जारी लॉक डाउन का सटीक से पालन नहीं हो पा रहा है। गुरुवार की सुबह जिले की बैराड़, मगरौनी,करैरा, पिछोर, रन्नाौद सहित कई तहसीलों में ग्रामीणों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। यहां बाजार भी नियमित रूप से खुल रहे हैं जिन पर लोग पर्याप्त दूरी न रखते हुए भीड़ की सूरत में जमा हो जाते हैं। बीती रात अंचल में जोरदार बारिश हुई थी जिसके बाद आज ग्रामीण सुबह त्रिपाल और अन्य खरीददारी करने एक साथ् निकल पड़े। लोगों ने बताया कि प्रशासनिक अधिकारी भी 11 बजे के पहले नजर नहीं आते जिससे भीड़ को रोकने वाला भी नजर नहीं आता। यह बात खतरे का सबब बन सकती है। आज बैराड़ में ही आसपास के 100 गांव से संबंद्ध लोग जो नियमित खरीददारी के लिए बैराड़ आते हैं, बारिश के चलते भीड़ की सूरत में बैराड़ आ पहुंचे थे। इस बारे में एसपी राजेश चंदेल का कहना है कि लोगों को घरों में रहना चाहिए। हम अधिकारियों को निर्देशित करेंगे कि वे लॉक डाउन में कोताही न बरतें और लोगों की भीड़ इकट्ठा न होना दें।

पूरा गांव ही कर डाला ग्रामीणों लोकडाउन, पूछा तो बोले हम मानेंगे मोदी की बात घरों में रहेंगेबैराड़। बैराड़ तहसील के ग्राम हर्रई के ग्रामीणों ने पीएम नरेंद्र मोदी के आवाहन पर ग्राम हर्रई में पूरी तरह लॉक डाउन कर दिया। ग्राम के मुख्य रास्ते को लकड़ी तिरछी डालकर बन्द कर दिया। साथ ही ग्राम में आने जाने वालों से निवेदन कर रहे हैं, कि हमारे गांव में 14 अप्रैल तक पूरी तरह रोक लगी हुई है। कृपया इस बात का सभी आने जाने वाले पालन करें। ग्राम के युवा संजय तोमर आदि ने बताया कि बाहरी लोगों को हम ग्राम से दूर रखने का प्रयास कर रहे हैं।

फोटो : 26 शिव 7

कैप्शन : ग्रामीणों द्वारा बंद किया गया गांव में आने का रास्ता

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket