शिवपुरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

बिजली की समस्या शहर में बढ़ती जा रही है। बिजली कंपनी की अंधेरगर्दी का हाल यह है कि कई इलाकों में लोग एक महीने तक से अंधेरे में रहने का मजबूर हैं। कमलागंज घोषीपुरा और चीलोद के नागरिकों को सोमवार को सब्र का बांध टूट गया और रहवासी इकठ्ठा होकर चाबीघर पहुंच गए। यहां उन्होंने जमकर प्रदर्शन किया और मुख्य रोड को जाम कर दिया। लोग ऊर्जा मंत्री मुर्दाबाद के नारे भी लगा रहे थे। भीड़ को उग्र होता देख चाबीघर के कर्मचारी वहां से भाग खड़े हुए। वहीं प्रदर्शनकारी भी मौके पर अधिकारियों को बुलाने पर अड़े रहे। इसके बाद पुलिस और बिजली कंपनी के अधिकारी आए। तीन घंटे में डीपी बदलने के आश्वासन के बाद लोग मौके से हटे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चीलोद क्षेत्र में लगभग डेढ़ माह से एक डीपी खराब पड़ी है। इस कारण वहां के लोगों को बिजली समस्या से जूझना पड़ रहा है। इस समस्या को लेकर वार्ड के लोगों ने कई बार बिजली अधिकारियों से संपर्क किया। लेकिन उन्हें बिजली अधिकारी आश्वस्त कर वहां से चलता कर देते थे। वहीं ऐसी स्थिति में वार्ड के लोग काफी परेशान थे। आसपास जहां लाइट आ भी रही है तो वहां पर मेंटीनेंस के नाम पर काफी कटौती की जा रही है। लोगों ने बताया कि कई बार कंपनी के लोग डीपी रखने आए भी, लेकिन चंद घंटे में वह फिर खराब हो गई। कंपनी के अधिकारी जानकर खराब डीपी यहां रखवा देते हैं। इसके बाद मौके कर्मचारी राकेश पांडे ने कहा कि डीई साबह ने 4 बजे तक आश्वासन दिया है। वे कहीं से भी लाएंगे, लेकिन आपके यहां डीपी लगवाएंगे। इसमें तीन-चार घंटे तो लगेंगे। इस पर लोगों ने कहा कि पुराना ट्रांसफार्मर नहीं रखना क्योंकि पहले भी ऐसा करा है और दो घंटे में वह खराब हो गया है।

उल्टा लोगों पर ही रख दिया आरोप

बिजली विभाग के अधिकारियों ने लाइट न होने का कारण वहां के लोगों को ही बता दिया। मौके पर मौजूद कंपनी के इंजीनियरों ने कहा कि उस क्षेत्र में लोड बहुत अधिक है। लोग वहां पर सीधे तार डालकर लाइट जलाते हैं, हर घर में हीटर जलते हैं। इसके कारण वहां ट्रांसफर्मर ज्यादा चल नहीं पाता है। साथ ही कहा कि अभी 200 का ट्रांसफार्मर उपलब्ध ही नहीं है। इसे गुना से मंगवा रहे हैं। दूसरी ओर वहां मौजूद लोगों का कहना है कि इस क्षेत्र में कुछ लोग बिजली चोरी करते हैं। उनके कनेक्शन विभाग काट नहीं पा रहा है। इसलिए इन लोगों ने पूरे क्षेत्र की ही बिजली गुल कर दी है और जानबूझकर ट्रांसफार्मर नहीं बदल रहे हैं।

वार्ड क्रमांक एक में नोहरी-बछौरा में सैकडों परिवार पिछले चार दिन से अंधेरे में रहने का मजबूर थे। चार दिनों तक यहां के लोग बिजली कंपनी के सामने गुहार लगाते रहे, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। वोल्टेज फ्लक्चुएशन के कारण कई लोगों के उपकरण भी खराब हो गए। यहां भी चार दिन बाद सोमवार को डीपी सुधारी गई जिसके बाद लाइट आ चुकी। यह तो महज दो उदाहरण हैें बिजली कंपनी की अंधेरगर्दी के। हर दिन बिजली कंपनी को लेकर लोगों की शिकायतें सामने आ रही हैं।

यह बोले लोग

लाइट से बहुत ज्यादा परेशान हैं। एक महीना हो गया लाइट ही नहीं आ रही है। कोई सुनवाई नहीं कर रहा है। पहले भी तीन-चार बार चाबीघर आ चुके हैं। अब जब फिर से समस्या लेकर यहां आए तो यहां भी कोई नहीं सुन रहा है। इसलिए हमने जाम लगा दिया है। यहां से भी कह रहे हैं कि बाणगंगा वाले ऑफिस चले जाओ। अब हम कहां-कहां चक्कर लगाएं।

शराफत खान, रहवासी कमलागंज घोषीपुरा

एक महीने से लाइट नहीं है। अब लाइट नहीं आएगी तो हम पानी कैसे भरेंगे और दूसरे काम कैसे करेंगे। पिछली बार डीपी रखकर गए थे जो एक दिन भी नहीं चली। एक महीना हो गया इस बात को। जब से बाढ़ आई है तब से तो लाइट ही नहीं आई।

रुखसाना, निवासी घोषीपुरा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local