- विद्याभारती द्वारा दिया जा रहा है राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत प्रशिक्षण

शिवपुरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय में आयोजित 15 दिवसीय आचार्य सामान्य प्रशिक्षण वर्ग में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। इसमें गुरुवार को विद्याभारती के अखिल भारतीय सह संगठन मंत्री श्रीराम अरावकर ने कहा कि छात्र के सर्वांगीण विकास की अवधारणा में उसका पंचकोशीय विकास आवश्यक है इनसे व्यक्ति परमेष्ठि की ओर जाता है। इस हेतु आचार्यों को पंचकोशीय विकास की संकल्पना को ध्यान में रखते हुए अनेक प्रकार की प्रतियोगिता एवं खेलों का भी आयोजन किया गया। इनमें अंत्याक्षरी, प्रश्नमंच, भजन एवं लोकगीत गायन, राष्ट्रीय एवं गण गीत गायन ध्वज स्थल सज्जा, हस्तलिखित पत्रिका निर्माण प्रतियोगिता के साथ प्रयोग आधारित शिक्षण, खेल, योग, आसान, सूर्य नमस्कार, समता आदि का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

श्रीराम अरावकर ने कहा कि हमारा मूल लक्ष्‌य यह है कि हमें ऐसी पीढ़ी का निर्माण करना है जिसमें राष्ट्र के प्रति गौरव का भाव हो। विद्यार्थियों का संबंध देश की माटी और संस्कृति से जुड़े। जिस देश की शिक्षा पद्धति में जीवन मूल्य और संस्कार नहीं हैं वह शिक्षा पद्धति राष्ट्र के अनुकूल नहीं है। इसलिए यहां कहा गया है 'शिक्षार्थ आइए-सेवार्थ जाइए'। विद्याभारती का लक्ष्‌य रट्टू तोता बनाना नहीं बल्कि भैया/ बहिनों का सर्वांगीण विकास करना है। सत्र में डा. रामकुमार भावसार प्रांत प्रमुख, मुकुट बिहारी शर्मा वर्ग संयोजक एवं विभाग समंवयक ग्वालियर, सुनील दीक्षित विभाग समवंयक नर्मदापुरम विभाग, राजेंद्र सिंह परमार प्रांतीय प्रशिक्षण प्रमुख, उमेश भारद्वाज सचिव तात्या टोपे बाल कल्याण समिति शिवपुरी, पवन शर्मा प्रबंधक सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय, उमाशंकर भार्गव प्राचार्य सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय आदि मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close