शिवपुरी(नईदुनिया प्रतिनिधि)

शहर में बिना मान्यता संचालित हो रहे शैक्षणिक संस्थानों के क्रम में राजेश्वरी रोड पर एक कमरे में आफिस खोलकर, फर्जी विज्ञापन के माध्यम से आइटीआइ संचालित की जा रही है। इस आइटीआइ के संचालन के संबंध में प्रशासन और मंत्री को शिकायत दर्ज कराकर मामले में कार्रवाई की मांग की गई है।

जानकारी के अनुसार राजेश्वरी रोड पर एक कमरे के आफिस में जेकेएन प्रायवेट आइटीआइ शिवपुरी के नाम से बोर्ड लगाकर छात्रों को तमाम ट्रेड में आइटीआइ कराने के साथ-साथ पास कराने का झांसा देकर छात्रों को एडमीशन दिए जा रहे हैं। जबकि वास्तविकता में इस नाम की कोई आइटीआइ शिवपुरी में है ही नहीं। इसके बाबजूद आइटीआइ के कर्ताधर्ताओं द्वार शहर में कई जगह छदम विज्ञापन कर बच्चों को गुमराह किया जा रहा है। शहर में लगे फ्लैक्स बैनरों पर उल्लेख है कि एडमीशन पर निःशुल्क बुक, बैग, यूनिफार्म, आई कार्ड एवं नोट्स आदि की सुविधा, पूर्णतः बाई-फाई कैम्पस और भी तमाम सुविधाएं मिलेंगी। जबकि यह आइटीआइ सिर्फ एक कमरे में संचालित है। इस आइटीआइ को लेकर शहर के अन्य संचालकों ने मंत्री यशोधरा राजे, कौशल विकास केंद्र भोपाल, कलेक्टर शिवपुरी को शिकायत दर्ज कराई है कि यह आइटीआइ न सिर्फ छात्रों को गुमराह कर रही है बल्कि उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ भी किया जा रहा है। इसके अलावा इससे अन्य आइटीआइ की छवि भी धूमिल हो रही है।

एनसीवीटी पर नहीं इस नाम की कोई आइटीआइ

खास बात यह है कि जब इस आइटीआइ की वैधानिकता की जांच करने के लिए एनसीवीटी के पोर्टल पर शिवपुरी में दर्ज आइटीआइ को खंगाला गया तो शिवपुरी में 22 संस्था वैधानिक पाई गईं। लेकिन इन सभी की सूची में जेकेएन आइटीआइ का कहीं कोई उल्लेख नहीं था। यह सूची इस बात की खुद व खुद गवाही दे रही है कि जेकेएन प्रायवेट आइटीआइ शिवपुरी के नाम से एडमिशन को जो दावा कर रहा है वह पूरी तरह से छात्रों के साथ धोखाधड़ी है।

जहां आइटीआइ वहां नहीं कोई लैब

जिस जगह आइटीआइ का आफिस संचालित है, वहां पर जाकर जब इस बात की तस्दीक की गई कि ट्रेड संचालित हो रही हैं उनके संबंध में कोई लेब वहां उपलब्ध है या नहीं, तो पाया गया कि वहां सिर्फ एक कोचिंग संचालित हो रही थी। न तो कोई लैब थी और न ही आइटीआइ जैसा कोई संस्थान। छदम विज्ञापन के माध्यम से माखन लाल यूनिवर्सिटी से कई अन्य कोर्स कराने का हवाला भी दिया जा रहा है जबकि वहां उनकी भी कोई व्यवस्था नहीं थी।

इनका कहना है

आइटीआइ शिवपुरी में नहीं, ग्वालियर में है। हम यहां बच्चों का एडमीशन करते हैं, बच्चों की क्लासेस आदि तो ग्वालियर में ही लगाई जा रही हैं। हमारे यहां तो सिर्फ कोचिंग संचालित होती है। हो सकता है बैनर में गलत नाम छप गया हो।

अनिल, संचालक जेकेएन आइटीआइ

-मुझे आइटीआइ की शिकायत प्राप्त हुई है, मैं आज ही इस संबंध में डायरेक्टर सर को कार्रवाई के लिए पत्र देकर आया हूं। वह आइटीआइ शिवपुरी में नहीं ग्वालियर में है। इस पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

नितिन मंदसौर वाले, प्रिंसिपल शासकीय आइटीआइ

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close