टीकमगढ़/खरगापुर। (नईदुनिया न्यूज)। खरगापुर नगर में बीते दिनों सोनी परिवार की आत्महत्या मामले को लेकर कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए असंसदीय शब्दों का उपयोग किया। सोमवार को सोनी परिवार के स्वजनों से मिलने पहुंचे पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि यह हत्या का मामला है। प्रदेश में किसान, व्यापारी आत्महत्या कर रहे हैं, लेकिन शिवराज सरकार संवेदनहीन बनी हुई है। उन्होंने घटना की सीबीआइ जांच की मांग की है।

गौरतलब है कि 23 अगस्त को धर्मदास सोनी सहित उनके परिवार के पांच सदस्य फांसी के फंदे से लटके हुए मिले थे। पुलिस ने दो सुसाइड नोट के आधार पर मृतकों के स्वजनों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मामले में थाना प्रभारी सुनील शर्मा को हटा दिया गया था, लेकिन इस कार्रवाई से कांग्रेस और भाजपा के नेता दोनों के नेता संतुष्ट नहीं हैं।

शिवराज सरकार में आमजन सुखी नहीं है

पूर्व मंत्री लाखन सिंह, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव किरण अहिरवार, कांग्रेस नेता नरेश सराफ के साथ यहां पहुंचे वर्मा ने कहा कि सभी पांच सदस्यों की हत्या की गई है। घटना की जांच सीबीआइ से कराना चाहिए। मृतक के घर पर गड्ढे खोदे गए हैं, इसकी जानकारी मुझे यहां के लोगों ने दी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में जबसे शिवराज सिंह की सरकार आई है। व्यापारी, किसान आत्महत्या कर रहे हैं। कोरोना से लोग मर रहे हैं। पूर्व मंत्री ने कहा कि खरगापुर थाना प्रभारी को हटाने से कुछ नहीं होगा। इस हत्याकांड में थाना प्रभारी सुनील शर्मा का हाथ है, जिसने खरगापुर नगर में व्यापारियों पर दमन चक्र चला करके 10 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाए हैं। शर्मा पर भी हत्या का मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस