ओरछा/टीकमगढ़, नईदुनिया प्रतिनिधि। बुंदेलखंड की अयोध्या कहे जाने वाली श्रीरामराजा सरकार की नगरी ओरछा में श्रीराम जानकी विवाह महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। निवाड़ी जिले के ओरछा में बुधवार की रात श्रीरामराजा सरकार की रामराजा मंदिर से वर यात्रा निकाली गई। धूमधाम से भगवान की वर यात्रा नगर के मुख्य मार्गों से निकली। जहां भक्तों ने भगवान का जगह-जगह तिलक पूजन किया। श्रद्धालुओं ने ढोल-नगाड़ों और बैंड-बाजों की धुनों पर जमकर नृत्य भी किया। भगवान श्रीराम की वरयात्रा में बड़ी संख्या में देश के विभिन्न राज्यों से आए श्रद्घालु शामिल हुए। खजरी का मोर बांधकर दूल्हा बने भगवान श्रीरामराजा सरकार नगर में निकले। वहीं नगर भ्रमण के बाद रात के समय बारात जानकी मंदिर पहुंची। जहां सभी बारातियों का भव्य स्वागत किया गया। रात के समय वैदिक रीतिरिवाजों के अनुसार विवाह संस्कार संपन्न हुआ।

गौरतलब है कि सालों से चली आ रही परंपरा के अनुसार इस बार भी ओरछानगरी को श्रीराम विवाह महोत्सव के लिए अनोखे अंदाज में सजाया गया। मंदिर के अंदर फूलों की आकर्षक साज सज्जा की गई। वहीं मुख्य सड़क पर जगह-जगह तोरण द्वार सजाए गए। दोपहर बाद से ही मंदिर परिसर में श्रद्घालुओं का जमावड़ा शुरू हो गया। शाम होते-होते हजारों की संख्या में श्रद्घालु दूल्हा सरकार के दर्शनों के लिए आतुर नजर आए। इस दौरान निवाड़ी के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव, कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी और एसपी टीके विद्यार्थी पूरे समय व्यवस्थाओं में जुटे रहे। ठीक शाम 7.10 बजे दूल्हा बने श्रीरामराजा सरकार फूलों से सजी आकर्षक पालकी में मंदिर से बाहर निकले। मंदिर के बाहर भगवान की एक झलक पाने खड़े हजारों श्रद्घालु दूल्हा सरकार को देखते हुए जयकारे लगाने लगे। मंदिर के ठीक बाहर पुलिस जवानों ने गार्ड आफ आर्नर दिया। इस दौरान कड़ी सुरक्षा के बीच भगवान की बारात मंदिर से नगर भ्रमण के लिए शुरू की गई। भगवान श्रीरामराजा सरकार की बारात निकलने के दौरान जमकर आतिशबाजी हुई। डीजे, बैंड बाजे, घोड़े बड़ी संख्या में बारात के साथ चल रहे थे। बारात में घोड़े भी नृत्य करते हुए देखे गए।

पूरे दिन श्रद्धालुओं का लगा रहा तांताः श्रीराम विवाह महोत्सव को लेकर हजारों की संख्या में श्रद्घालुओं का जनसैलाब ओरछा पहुंचा। जहां श्रद्घालुओं ने दिन में श्री रामराजा सरकार के दर्शन किए और रात के बारात में शामिल होकर जय श्री राम के जोरदार जयकारे लगाए। वर यात्रा के दौरान ओरछा नगरी रामराजा सरकार के जयकारों से गुंजायमान हो उठी। वर यात्रा में श्रद्घालु ने बड़े ही आनंदित होकर दूल्हा बने श्रीरामराजा सरकार के दर्शन किए। इसके पूर्व सुबह के समय श्रद्घालुओं ने बेतवा नदी में डुबकी लगाई। बेतवा नदी के पास प्रशासन द्वारा गोताखारों सहित पुलिस की टीम तैनात की गई है। वाहनों के आवागमन को लेकर भी पुल के दोनों तरफ पुलिस के जवान मुस्तैद रहे।

आज होगा राम कलेवा: मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी रामराजा मंदिर में धूमधाम से श्रीरामसीता विवाह महोत्सव मनाया जा रहा है। 7 दिसंबर से शुरू हुए विवाह महोत्सव के दौरान विभिन्न कार्यक्रम हुए, जिसमें हल्दी, मंडप का कार्यक्रम शामिल रहा। 8 दिसंबर को भगवान श्रीराम दूल्हा बने और भगवान की बारात नगर में गाजे बाजों के साथ निकली गई। भगवान की बारात जानकी मंदिर पहुंची। जहां विवाह संस्कार संपन्न हुए। इसमें बड़ी संख्या में श्रद्घालु भी शामिल हुए। अब 9 दिसंबर को राम कलेवा का आयोजन किया जाएगा।

आकर्षक सजी दुकानें, जमकर हुई खरीददारी: तीन दिवसीय महोत्सव को लेकर प्रशासन स्तर पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। वाहन पार्किंग की व्यवस्था के लिए भी पुलिस प्रशासन स्तर पर स्थान चिन्हित किए गए। जहां दोपहिया वाहन अलग जगहों पर पार्क किए गए। वहीं चार पहिया वाहनों के लिए अलग से पार्किंग की व्यवस्था की गई। इसके अलावा हैवी वाहनों के लिए आवागमन की व्यवस्था अलग से बनाई गई है। ओरछा में श्रीराम विवाह महोत्सव को लेकर दुकानों पर दुकानदारों द्वारा विशेष और सुंदर दुकानों की सजावट की गई। स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी नगर में उत्साह देखा गया है।

जनकपुरी के पुजारी बने राजा जनक, किया बारात का स्वागतः सजाने संवरने के बाद बुंदेली लोकरीति निकासी होने परे श्रीरामराजा सरकार पूरे राजसी वैभव और ठाटबाट के साथ हाथी, घोड़ा, ढोल नगाड़ा, बैंड बाजे, ध्वज पताका के साथ सिया जू से शादी करने के लिए बारात लेकर जनकपुर के लिए निकले। इस पावन बेला में ओरछा नगर के लोगों ने घर- घर मंगल कलश सजाकर दूल्हा बने श्री रामराजा सरकार का तिलक किया और फूलों की वर्षा कर स्वागत वंदन किया। मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज एवं पुरोहित वीरेंद्र कुमार विदुआ ने वैदिक विधि से पूजन कर दूल्हा सरकार को उनके भाई लक्ष्मणजी को पालकी में विराजमान कराया। इस दौरान कलेक्टर कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी द्वारा दूल्हे सरकार का पूजन कर बारात की निकासी की गई। श्रीरामराजा सरकार की बारात नगर के नजाई मोहल्ला शास्त्री नगर गणेश दरवाजा, झांसी रोड होती हुई रात एक बजे मुख्य चौराहे पर स्थित जनक मंदिर पहुंची, जहां जनकपुरी के पुजारी हरीश दुबे ने राजा जनक के रूप में रामराजा सरकार का तिलक कर बारात की अुगवानी की। बारात के नगर भ्रमण के दौरान जगह-जगह महिला भक्तों द्वारा गाये जा रहे बुंदेली वैवाहिक गीत गाए गए। श्रीरामराजा सरकार की बारात जनक मंदिर पहुंचने के बाद विवाह की सभी रस्में पूरी की गई।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close