सीएम के निर्देश पर कमिश्नर ने भेजी गड़बड़ी की जांच करने के लिए टीम

फोटो-5

पृथ्वीपुर(नईदुनिया न्यूज)।

पृथ्वीपुर और जेरोन में जनदर्शन कार्यक्रम के दौरान ही अधिकारियों-कर्मचारियों को सस्पेंड करने के बाद सीएम ने अब जांच दल भेज दिया। पृथ्वीपुर और जैरोन नगर परिषद में कमिश्नर द्वारा गठित जांच दल दस्तावेजों सहित तकनीकी रूप से जांच कर रहा है। बुधवार को जांच दल के पहुंचने से हड़कंप मच गया। जांच दल अब जांच के बाद पूरे मामले की रिपोर्ट कमिश्नर सागर मुकेश कुमार शुक्ला के समक्ष प्रस्तुत करेगा, जिसमें आगे प्रतिवेदन के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल अधिकारी जांच दल को साधने में जुटे हुए हैं।

गौरतलब है कि पृथ्वीपुर विधानसभा में जन दर्शन यात्रा लेकर पहुंचे प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से जनता ने शिकायत की जिस पर उन्होंने कमिश्नर को जांच के लिए निर्देशित किया और 6 सदस्यी टीम जेरोन और पृथ्वीपुर नगर परिषद में जांच करने के लिए पहुंचकर जांच शुरू की है। संभाग के कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला के द्वारा मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद उन्होंने नगर परिषद जेरोन और पृथ्वीपुर की शिकायतों के संबध में एक जांच दल संयुक्त संचालक नगरीय निकाय संभाग सागर धीरेंद्र सिंह परिहार की अध्यक्षता में 6 सदस्यी दल गठित किया, जिसमें सुनील परमार, एनके नर्रे, अनुग्रह सिंह, ओपी दुबे, सतीश दुबे, शामिल हैं। बता दें कि सीएम ने मंच से ही पृथ्वीपुर तहसीलदार अनिल तलैया, तत्कालीन जैरोन सीएमओ उमाशंकर मिश्रा और उपयंत्री अभिषेक राजपूत को निलंबित कर दिया था। सीएम के सख्त तेवर देखकर अधिकारियों के हाथ पांव फूल रहे थे।

फर्जी बिलिंग सहित अन्य दस्तावेज देखे

बुधवार को जांच दल नगर परिषद जेरोन और पृथ्वीपुर पहुंचा, जहां इनके द्वारा पीएम आवास के रिकार्ड की जांच, शासकीय योजनाओं में अनिमित्ताओं के क्रियान्वयन, सामग्री अनियमित खरीददारी, फर्जी बिलिंग, वित्तीय निर्माण के विरूद्ध भुगतान, आदि कार्यो की बिंदुवार रिकार्ड मांगा गया। जांच दल के प्रभारी धीरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने नगर परिषद जैरोन और पृथ्वीपुर पहुंचकर रिकार्ड मांगा है। जल्द ही इसकी जांच पूर्ण कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन वरिष्ठ कार्यालय भेजा जाएगा।

कार्यालयों में मचा रहा हड़कंप

मुख्यमंत्री के सख्त तेवर देखकर अब कार्यालयों में हड़कंप मच गया। टीकमगढ़ जिले के दौरे के दौरान इस प्रकार की कार्रवाई नहीं होने से अधिकारी बेहद प्रसन्ना नजर आ रहे हैं। टीकमगढ़ में अधिकारियों ने राहत की सांस ली है। वहीं निवाड़ी जिले में तीन अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। सस्पेंड के बाद अब जांच दल भी वहां पहुंच गया है। सीएम के निर्देश पर जांच पहुंचने से गड़बड़ीकर्ताओं में हड़कंप मचा है। जांच दल का कहना है कि स्पष्ट रूप से मामले की जांच होगी। रिपोर्ट सीएमओ कार्यालय भी भेजी जाएगी।

देर रात झांसी के रूट से रवाना हुए सीएम

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पृथ्वीपुर में सभा के दौरान काफी समय हो गया था। पूर्व में खजुराहो तक हेलीकाप्टर और फिर स्टेट प्लेन से भोपाल पहुंचने का कार्यक्रम तय था। इससे खजुराहो में भी पूरा प्रशासन लगा हुआ था। साथ ही रूट पर पुलिस और प्रशासन अलर्ट रहा। लेकिन देर शाम होने के चलते हेलीकाप्टर नहीं उड़ सका। मुख्यमंत्री के तय कार्यक्रम में बदलाव करके वह झांसी के रास्ते से भोपाल के लिए रवाना हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान रात करीब 10 बजे ट्रेन से ही भोपाल के लिए रवाना हुए थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local