निवाड़ी(नईदुनिया न्यूज)।

महिला अपराधों की रोकथाम पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई। उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार राजनीति शास्त्र विभाग द्वारा डॉ. ऊषा त्रिपाठी विभागाध्यक्ष के संयोजन एवं प्राचार्य डॉ.नरेश सहगल के संरक्षण में महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों की रोकथाम पर एक दिवसीय जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में राजनीतिशास्त्र की प्राध्यापक डॉ. रजनी तिवारी ने कहा कि जहां हम एक ओर यत्र नारियत्र पूज्यंते , रमंते तत्र देवताश् की बात करते हैं वहीं दूसरी ओर हमारा सामाजिक ताना बाना ऐसा है कि हम लड़कियों में बचपन से हीन भावना पैदा कर देते हैं। इसके लिए महिलायें ही बराबर की जिम्मेदार है। अतः हमें महिलाओं में आत्म विश्वास पैदा करने के लिए ट्रेनिंग देकर, आर्थिक रूप से सक्षम बनाकर उनमें आत्मबल पैदा करना होगा। अनुमेहा गुप्ता उपनिरीक्षक महिला पुलिस थाना निवाड़ी ने घरेलू हिंसा, दहेज प्रताड़न, दुष्कर्म, छेड़छाड़ आदि अपराधों पर कौन-कौन सी धाराएं लगती हैं और उनमें सजा का क्या प्रावधान है। शासन द्वारा महिला सुरक्षा हेतु उपलब्ध फोन नम्बर 100, 1090, 108, 1089 आदि को छात्राओं को नोट कराया और कहा कि महिलाओं को अपने पास छोटे हथियार, सेफ्टी पिन, मिर्चीस्पे्‌र एवं शोर मचाकर अपनी सुरक्षा का प्रयास करना चाहिए। डॉ. विनय प्रकाश गौड़ सह प्राध्यापक समाजशास्त्र महाविद्यालय ने आंकड़ों के माध्यम से महिलाओं पर होने वाले बढ़ते अपराधरों पर चिंता व्यक्त की। कार्यशाला में डॉ.एच.के. खरे व प्रो.एल.आर. प्रजापति, डॉ.जे.आर. अहिरवार सहित तकनीकी रूप से सहयोग करने वालों में प्रदीप अवस्थी, ओगेन्द्र सिंह, राजेश अहिरवार, मनोज कुमार अहिरवार ,डॉ.साधना सिंह, डॉ.निशा दीक्षित, डॉ.रंजना पटैरिया सहित सभी प्राध्यापक एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यशाला में प्राध्यपकों के अलावा 70 छात्र-छात्राओं ने सहभागिता की। कार्यशाला का संचालन एवं आभार डॉ.ऊषा त्रिपाठी द्वारा किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local