बल्देवगढ़। नईदुनिया न्यूज

जनपद क्षेत्र की ग्राम पंचायत भेलसी में पानी की टंकी का निर्माण कराया जा रहा है। निर्माण कार्य समय सीमा में नहीं होने से कार्य अधूरा पड़ा है।

नगर में सड़क को खोदकर पाइप लाइन तो डाल दी है परन्तु अब तक टंकी का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका।यह निर्माण कार्य समय सीमा में पूर्ण करना था। जनपद क्षेत्र की ग्राम पंचायत भेलसी में लंबे समय से पीने के शुद्ध पानी की किल्लत को देखते हुए प्रदेश शासन द्वारा 4 लाख लीटर क्षमता 309 लाख रुपये की लागत से कराया जा रहा है। जिसके निर्माण का जिम्मा गिर्राज कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया। भूमि पूजन 4 अगस्त 2021 को स्थानीय जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में किया गया। दिसंबर 2021 में नल जल योजना को पूर्ण करने का भरोसा दिया, लेकिन उक्त निर्माण एजेंसी द्वारा अब तक पूण्र नहीं कराया गया। हाल में ग्राम पंचायत भेलसी के सभी वार्डों में पाइप लाइन जगह जगह सीसी खोदकर डाल दिए गए, लेकिन उन गड्ढों को भरवाया नहीं गया, जिससे आए दिन मवेशी और वार्डवासी गिरकर चोटिल हो रहे हैं। ग्राम के निवासी संतोष द्विवेदी ने आरोप लगाया है कि उक्त निर्माण एजेंसी द्वारा समय सीमा में नल जल योजना का काम नहीं कराया जा रहा है और कछुआ गति से कार्य को कराया जा रहा है जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। मंजू जैन व पूरन कुशवाहा ने आरोप लगाया कि निर्माण एजेंसी द्वारा नल जल योजना का काम कछुआ गति से करने के कारण पूरे ग्राम में सीसी रोड खोदने और उसका सुधार नहीं कराने के जगह कीचड़ उत्पन्ना हो गया है पानी की पुरानी टंकी के नीचे बैठने वाले दुकानदार अपनी रोजी रोटी के संकट के दौर से गुजर रहे ग्रामीणों ने शीघ्र ही नल जल योजना हेतु खुद ही गई सीसी रोड को दुरुस्त कराने व पानी की टंकी का शीघ्र निर्माण कराए जाने की मांग की है।

इस संबंध में पीएचई विभाग के सब इंजीनियर आरके रावत का कहना है कि भेलसी ग्राम में नल जल योजना के तहत जो पाइप लाइन के लिए सीसी रोड खोदी गई थी अभी टेस्टिंग न होने के कारण उसका भर पाना मुश्किल है अगर कहीं कीचड़ मच रहा है तो मुरम मिट्टी डालकर उसको दुरुस्त किया जाएगा। टंकी निर्माण के लिए डिजाइन का अप्रूवल करीब 1 सप्ताह पूर्व ही मिला है शीघ्र टंकी का निर्माण किया जाएगा। इस संबंध में ग्राम पंचायत भेलसी के सचिव भरत लाल मिश्रा का कहना है कि ग्राम के सभी वार्ड में खोदे गए सीसी रोड के नुकसान का आकलन किया जा रहा है। आकलन के पश्चात जनपद कार्यालय में नुकसान की वसूली के लिए पत्र भेज रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local