- ओरछा सजधज कर तैयार, पहले दिन हल्दी की रस्म के साथ पचास हजार लोगों ने मंडप की प्रसादी ग्रहण की

Ramraja Sarkar Vivah in Orchha: ओरछा(नईदुनिया न्यूज)। बुंदेलखंड की अयोध्या ओरछा में सोमवार शाम आठ बजे रामराजा सरकार की बारात निकलेगी। लेकिन इससे पहले ही रामराजा सरकार मंदिर परिसर में एक जोड़े ने शादी की। इससे मंदिर परिसर में विवाह महोत्सव को लेकर लोगों में उत्साह पैदा हो गया। मंदिर परिसर में ही ललितपुर के बिजौली स्टेशन डगरिया के रहने वाले आकाश अहिरवार ने असुपुरा की रहने वाली हेमलता के साथ विवाह पंचमी पर श्रीरामराजा सरकार मंदिर परिसर में विवाह रचाया। पंडित जी ने विधिवत उनके विवाह की रस्में भी पूरी कराई। दोनों ने जब एक-दूसरे को माला पहनाई तो लोगों ने उन्हें आशीर्वाद दिया। इसके साथ ही मंदिर परिसर के पास ही श्याम जादूगर झांसी का जादू को देखने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। यहां बता दें बुंदेलखंड की अयोध्या भगवान श्रीरामराजा सरकार की नगरी ओरछा में आज भगवान राजसी ठाठ बाट के साथ निकलेंगे। इसके पहले रविवार को श्री राम-जानकी विवाह महोत्सव के दौरान मंदिर के आंगन में हल्दी की रस्म हुई, जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्घालु झूम कर नाचे और कलेक्टर तरूण भटनागर द्वारा मंडप स्थापना एवं पूजन किया गया। साथ ही श्री रामराजा मंदिर धर्मशाला में आयोजित मंडप पंगत में करीब पचास हजार लोगों ने सम्मिलित होकर प्रसाद ग्रहण किया। इस पावन महोत्सव की मंगल बेला पर धार्मिक नगरी ओरछा को दुल्हन की तरह सजाया गया है और पूरे नगर में जगह-जगह तोरण द्वार बनाए गए। यातायात व्यवस्था के लिए श्रीराम विवाह महोत्सव के समय नगर के झांसी बबीना-पृथ्वीपुर मार्ग पर करीब एक किमी पहले वाहनों की पार्किंग की जा रही है।

गौरतलब है कि मंदिर में बुंदेली वैवाहिक गीत और गारी गूंज रही हैं। मुख्य मंदिर में वर पक्ष बुंदेली वैवाहित गीत बन्ना को चढ़ गओ हरदी तेल बन्ना मेरो पीरो पर गाओ री। वहीं वधू पक्ष के श्रद्घालु और महिलाएं बन्नी गा रही हैं, बन्नी तेरी अंखिया सुर में दानी, बन्नी तेरी बेंदी लाख की बन्नी तेरो गेंदा है हजारी,। यह गीत श्रद्घालु रविवार को गाते हुए देखे गए। इसके साथ ही बरात के दौरान भगवान के सिर पर सोने का मुकुट नहीं, बल्कि आम बुंदेली दूल्हों की तरह खजूर की पत्तियों से बना मुकुट पहनाया जाएगा। पालकी के एक ओर छत्र और दूसरी ओर चंवर रहेगा। इसे देखकर बुंदेली वैभव की याद ताजा हो जाती है।

राजसी वैभव से निकलेगी बरात

सोमवार को रात 8 बजे हाथी, घोड़े, बग्गी, ढोल-नगाड़े और बुंदेली वाद्य यंत्रों की टोलियां राजसी ठाट-बाट के साथ श्री राम राजा सरकार की बरात राजसी वैभव के साथ निकलेगी। वरयात्रा के मंदिर से निकलते ही सशस्त्र पुलिस बल द्वारा दूल्हा बने राजा राम को गार्ड आफ आनर दिया जाएगा। इसके बाद श्रीराम जी अपने छोटे भाई लक्ष्मणजी के संग पालकी में विराजमान होकर नगर के प्रमुख प्राचीन मार्गो पुर वासियों दर्शन देते हुए नगर मुख्य चौराहे पर स्थित जनक भवन मंदिर के लिए निकलेंगे। मुख्य रूप से बरात में राजसी प्रतीक चिन्ह पंखा, तिकोना, छड़ी और मशाल आदि सरकार की पालकी के साथ चलेंगे।

बुंदेली गीत गाकर होगा तिलक

- वरयात्रा में धर्म ध्वज, बैंडबाजे, विद्युत सजावट के साथ धार्मिक कीर्तन मंडली रामधुन के साथ रहेगी। नगर के हर द्वार पर दूल्हा बने राजा राम का पारंपरिक बुंदेली वैवाहिक मंगल गीत गायन करते हुए तिलक किया जाएगा।

- इस पवन बेला पर नगर में मंगल कलश सजाकर बरात पर पुष्प वर्षा की जाएगी। बरात रामराजा मंदिर से नझाई मुहल्ला, पावर हाउस, शास्त्री नगर, गणेश दरवाजा से होते हुए नगर के मुख्य चौराहे पर स्थित जनकजी के मंदिर पहुंचेगी। जहां मंदिर के पुजारी पं. हरीश दुबे राजा जनक के रूप में दूल्हा सरकार का टीका और बरात की अगुवानी करेंगे।

- इसके बाद वैदिक रीति अनुसार विवाह की सभी रस्में होंगी। श्री रामविवाह उत्सव पर रात में मंदिर के बाहर प्रांगण में श्रीरामराजा सेवा दल के संयोजन में देश के चुनिंदा ख्याति प्राप्त कलाकारों द्वारा धनुष यज्ञ लीला का मंचन की जाएगा। इसके अलावा मंदिर परिसर में संत समागम के अतिरिक्त रामचरित मानस प्रवचन भजन कीर्तन आदि धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

मंडप की पंगत में उमड़े श्रद्घालु

श्रीरामराजा सरकार के विवाहोत्सव में रविवार को दिन में तीन बजे यजमान के रूप में जिला कलेक्टर तरूण भटनागर से मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज एवं पुरोहित पं वीरेंद्र बिदुआ द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ विधिवत मंडपाच्छादन पूजन करवाया गया। इसके बाद शाम 4 बजे से श्रीराम जानकी विवाह के प्रीतिभोज का आयोजन हुआ। विवाहोत्सव के दौरान नगर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। कार्यक्रम के दौरान होने वाली भीड़ की सुरक्षा के लिए पुलिस-प्रशासन द्वारा श्री रामराजा मंदिर प्रांगण, बेतवा नदी किनारे, महलों के पास, मंदिर के पीछे पुलिस की विशेष टुकड़ियां तैनात की गई है। साथ ही अतिरिक्त कंट्रोल रुम बनाकर एवं सीसीटीवी कैमरों से हर गतिविधि पर निगरानी रखी जा रही है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close