टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

गणपति बप्पा मोरिया के जयकारे गूंज रहे थे, वाहनों पर सवार भगवान गणेश अपने धाम को जाने के लिए निकले, श्रद्धा और भक्ती के साथ यहां हजारों की संख्या में पुरुष और महिलाएं बप्पा को विदा करने के लिए विसर्जन घाट पहुंचे। पूजा-अर्चना और आरती के साथ लोगों ने विसर्जन कुंड पर गणपति बप्पा को विसर्जित किया। यहां देर रात तक भगवान गणपति के विसर्जन का सिलसिला पुलिस की देखरेख में जारी रहा। दोपहर बाद हुई तेज बारिश के दौरान गणपति के भक्तों का सड़कों पर थिरकनें जारी बना रहा।

गौरतलब है कि अनंत चतुर्दशी का त्योहार जहां नगर में परंपरागत तरीके समय से मनाया गया, वहीं गुरुवार को भगवान गणपति को विसर्जित करने के लिए महेन्द्र सागर तालाब पर बनें विसर्जन कुंड पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और उन्होंने पूजा-अर्चना तथा आरती के बाद गणपति को विदा किया। बताया गया है कि एक ओर जहां महेन्द्र सागर तालाब पर विसर्जन का सिलसिला जारी रहा, वहीं महाराजपुरा तालाब पर भी अनेक कमेटी के लोग प्रतिमाएं लेकर पहुंचे। अनंत चतुर्दशी तक चलने वाले गणेशोत्सव का गुरूवार को विधि-विधान के साथ समापन किया गया। नगर के लगभग पचास से अधिक स्थानों पर गणेश प्रतिमाएं रखी गई थी। इन स्थानों पर दस दिनों तक भक्ति और पूजा-अर्चना का सिलसिला जारी बना रहा। पानी की टंकी, हरदौल पार्क तालदरवाजा, महेन्द्र सागर तालाब देवी मंदिर, छोटी देवी मंदिर, बस स्टैंड, सिविल लाइन, कौशलपुरी कॉलोनी, चित्रांश नगर, राजमहल सहित अनेक इलाकों में गणेशोत्सव धूमधाम से मनाया गया। दस दिनों तक चले भव्य आयोजन के बाद हुए प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवाओं की टोलियों ने भजनों पर थिरकते हुए जमकर डांस किया। अपनी अपनी टोलियों के साथ गणपति बप्पा को लेकर युवा महेन्द्र सागर तालाब की ओर निकले। कई प्रतिमाएं जहां दोपहर में ही विसर्जिक की गई, वहीं नगर में चल समारोह निकला। यह प्रतिमाएं नगर के मुख्य मार्गों से होते हुए विसर्जन घाट तक पहुंची।

पुलिस का रहा सख्त पहरा

महेन्द्र सागर तालाब पर पुलिस का सख्त पहरा रहा। यहां प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए विशेष इंतजाम किए गए थे। क्रेन के द्धारा प्रतिमाओं को कुंड में विसर्जित किया जा रहा है। तालाब में पानी अधिक होने से लोगों को तालाब से दूर रहने की लगातार सलाह दी जाती रही। चल समारोह के दौरान यातायात प्रभारी और अन्य कर्मचारी पूरी मुस्तैदी से लगे रहे। पपौरा चौराहा, स्टेट बैंक चौराहा, गांधी चौराहा, सिंधी धर्मशाला तिराहा, नजाई मंडी, कटरा बाजार, सर्राफा मार्केट सहित अन्य इलाकों में यातायात को बनाए रखने के लिए यातायात पुलिस द्वारा हर संभव प्रयास किए गए।

जगह-जगह भक्तों ने की आरती, हुआ प्रसाद वितरण

नगर में गणपति विसर्जन के लिए निकले चल समरोह के दौरान अनेक स्थानों पर लोगों ने पूजा-अर्चना और आरती की। इसके साथ ही प्रसाद वितरण किया गया। भगवान गणपति की हजारों लोगों ने अपने घरों पर भी छोटी-छोटी प्रतिमाएं रखी हुई थीं, जिनका लोगों ने श्रद्धा भक्ति के साथ तालाब पर ले जाकर विसर्जन किया। यहां बच्चों और महिलाओं में भी विशेष उत्साह देखने को मिला।

फोटो- 21- विसर्जन कुंड में गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन होता हुआ।

फोटो- 22- भगवान गणेश को भावभीनी विदाई देते हुए श्रद्धालु।