टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

नंदीश्वर कॉलोनी में गुरुवार को जैन समाज की बैठक आयोजित की गई। बैठक में बताया कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों के पोषण के लिए अंडे बांटने का आदेश जारी किया है। जिसका संपूर्ण दिगंबर जैन समाज और सभी अहिसंक समाज घोर विरोध करती है। अंडा एक मांसाहारी भोजन है कई वैज्ञानिक तर्को एवं विश्लेषण से पता चलता है कि मांसाहार से ज्यादा प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट शाकाहारी भोजन के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। मांसाहार का सेवन हमारे देश की संस्कृति, प्रकृति एवं पर्यावरण के लिए भी घातक है। आंगनबाड़ी में अंडा बांटने का मूल्य उद्देश्य जैन समाज की बहन बेटियों को नौकरी से हटाना है। प्रदीप जैन बम्हौरी ने बताया कि नंदीश्वर कॉलोनी में जीव दया एवं भारत निर्माण संस्थान और नंदीश्वर सेवा संघ की बैठक आयोजित की गई। जिसमें मध्यप्रदेश शासन द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को स्वल्पाहार में अंडा वितरण के फैसले के बारे में चर्चा हुई। जिसमें समस्त जैन समाज द्वारा अंडा वितरण किए जाने पर चिंता व्यक्त की गई इसमें अंडा बांटने का मूल्य उद्देश्य जैन समाज की बेटियों को नौकरी छोड़ने के लिए मजबूर कर नौकरी छुड़ाना बताया है। जैन समाज इसका विरोध करती है। यदि मप्र सरकार इस फैसले को वापस नहीं लेती है तो जैन समासज के साथ साथ सभी अहिंसक समाज उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। इस अवसर पर बैठक में एक ज्ञापन प्रदेश सरकार को सौंपने पर विचार विमर्श हुआ। इस अवसर पर बैठक में अंकित जैन, रविन्द्र जैन, मनोज जैन, भरत जैन, अतुल जैन, पवन जैन, ज्ञानचंद जैन, हुकुम चंद जैन एवं समाज के सभी लोग मौजूद रहे।

16टीकेजी2

बैठक के दौरान विचार विमर्श करते जैन समाज के लोग

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket