टीकमगढ़(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

रेलवे स्टेशन से झांसी, भोपाल और इंदौर के लिए ट्रेनें चल रहीं हैं। यहां पर सुविधाओं के नाम पर यात्रियों को कुछ नहीं मिल रहा है। एक घंटे पहले पहुंचने के बाद यात्रियों को ट्रेनों का टिकट मिल पाती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि कर्मचारी और व्यवस्थाएं होने के बाद स्टेशन मास्टर द्वारा टिकट के लिए दूसरा काउंटर शुरू नहीं किया जा रहा है। तीन ट्रेनें अपडाउन करने के बाद भी समस्या हो रही है। यात्रियों को तत्काल कोटा की टिकट लेने के लिए मशक्कत करना पड़ रही है। कई मर्तबा बगैर टिकट ही यात्रा करना यात्रियों की मजबूरी बन जाती है। ऐसे में रेलवे को राजस्व का घाटा हो रहा है।

गौरतलब है कि रेलवे स्टेशन से अब पैंसेजर और सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेनें गुजर रहीं है और रोजाना ही भोपाल के लिए 300 से ज्यादा यात्री अपडाउन करते हैं। लेकिन रेलवे द्वारा एक ही टिकट काउंटर शुरू किया गया है,इससे यात्री बगैर टिकट लिए ही बिना कोई रोकटोक फ्री में यात्रा कर रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर बिल्कुल भी सुविधाएं यात्रियों को नहीं मिल पा रही है। इसमें महिलाओं को सबसे ज्यादा परेशानियां होतीं हैं। तत्काल कोटा की टिकट लेने के दौरान समय पूरा हो जाता है और टिकट नहीं ले पाते हैं। ऐसे में दूसरा काउंटर भी शुरु होना चाहिए।

टूट गए लगे हुए नल

अब खजुराहो-झांसी पैसेंजर और खजुराहो भोपाल सुपरफास्ट एक्सप्रेस, इंदौर-खजुराहो एक्सप्रेस ट्रेन गुजर रही है। रेलवे द्वारा पानी को लेकर टंकियां और नल तो लगवाएं गए है, लेकिन यह नल टूट गए और अब रेलवे इस ओर जरा भी ध्यान नहीं दे रहा है कि यात्रियों को पानी की व्यवस्था तो रेलवे स्टेशन पर की जाए।

बगैर टिकट यात्रा करना मजबूरी

टीकमगढ़ से भोपाल का सफर कई यात्री बे-टिकट कर रहे हैं। इसमें यात्री की नहीं, रेलवे प्रबंधन की लापरवाही है कि स्टेशन पर टिकट काउंटर एक ही शुरु किया गया है और ट्रेन आने के दौरान समय का ध्यान रखते हुए कई यात्री बगैर टिकट के यात्रा करने को मजबूर हो जाते हैं। इसमें कई यात्री ऑनलाइन बुकिंग कर देते है, लेकिन पैंसेजर ट्रेन तो घाटे में ही चल रही है, जिसमें कि कोई टिकट ही नहीं खरीद रहा है। लंबी लाइन देखकर टिकट लेने की कतार में ही लोग नहीं लगते हैं।

------------

स्टेशन मास्टर नहीं देते यात्रियों को सही जानकारी

महामना एक्सप्रेस से भोपाल की ओर जा रहीं महिला ममता नायक और कल्पना नायक ने बताया कि ट्रेन संबंधी जानकारी यदि स्टेशन मास्टर से ली जाती है, तो वह सीधे बात ही नहीं करते हैं और कह देते हैं कि मुझे कुछ पता नहीं है। इंटरनेट पर जानकारी देखे। उन्होंने कहा कि स्टेशन मास्टर को स्वयं ही कोई जानकारी नहीं रहती है। ऐसे में हम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

------

झांसी डीआरएम संदीप माथुर ने बताया कि आपके द्वारा जानकारी प्राप्त हुई है। अधिकारियों को निर्देशित कर दूसरा काउंटर शुरू कराने के लिए कार्रवाई करने के लिए कहा जाएगा। साथ ही अन्य व्यवस्थाएं दुरुस्त होंगी।

फोटो- 23टीकेजी11

स्टेशन पर टिकट के लिए लगी लंबी लाइन

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket