कोरोना की दहशतः टीकमगढ़ में 8 और निवाड़ी में 13 कोरोना संक्रमित मिले

टीकमगढ़(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

इस समय कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की पुष्टि टीकमगढ़ जिले में हो चुकी है। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन भी पांव पसरा रहा है। सरकार की ओर से संक्रमण से बचाव को लेकर गाइड लाइन पालन करने की सलाह दी जा रही है। जिला प्रशासन की ओर से स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया गया है। शहर व ग्रामीण इलाकों में संक्रमण से बचाव के लिए प्रचार-प्रसार भी कराया जा रहा है। चौक-चौराहों पर ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से आमजनों को सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण की सलाह दी जा रही है। घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाने एवं शारीरिक दूरी का पालन करने की नसीहत दी जा रही है। लेकिन नगर बाजार में आमजनों द्वारा गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। भीड़-भाड़ वाले इलाके में भी लोग बिना मास्क लगाए बेपरवाह घूम रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। थोड़ी सी लापरवाही लोगों को भारी सकती है। यही वजह है कि अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

गौरतलब है कि टीकमगढ़ जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जतारा, बड़ागांव धसान, पलेरा, खरगापुर, पिपरट सहित अन्य क्षेत्रों में संक्रमण का फैलाव तेजी से हो रहा है, जहां पर रोजाना ही मरीज सामने आ रहे हैं। गुरुवार को टीकमगढ़ जिले में 8 और निवाड़ी जिले में 13 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं। इससे अब सक्रिय मरीजों की संख्या में इजाफा हो गया है। टीकमगढ़ में अब कोरोना संक्रमित सक्रिय रूप से 163 हो गए हैं। वहीं निवाड़ी में इनकी संख्या बढ़कर 53 हो गई हैं। अभी तक टीकमगढ़ में 203809 और निवाड़ी में 156986 लोगों की कोरोना को लेकर जांच हुई है। अभी तक संक्रमितों की संख्या भी बढ़कर टीकमगढ़ में 7008 और निवाड़ी में 3759 हो गई है। जबकि अब तक 162 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद जान गवां चुके हैं।

संपर्क में आए लोगों पर प्रशासन की नजर

प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमितों को आइसोलेट रहने की सलाह तो दी जा रही है। लेकिन अभी बैरीकेटिंग करने जैसी कोई गतिविधि नहीं की जा रही है। वहीं कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के बाद अब प्रशासन ने संपर्क में आए हुए लोगों को नजर रखना शुरू कर दी है। संक्रमितों के संपर्क में आए हुए करीब 500 से ज्यादा लोगों पर प्रशासन नजर बनाए हुए हैं। वहीं उनके विभिन्ना विभागों के अधिकारी संपर्क करने के बाद उन्हें घर पर रहने की सलाह दे रहे हैं। प्रशासन की मानें तो अभी स्थिति गंभीर नहीं है। लेकिन लोगों को जागरूक रहना पड़ेगा, नहीं तो स्थिति बिगड़ सकती है।

चालानी कार्रवाई के बाद भी नहीं सुधार

प्रशासन द्वारा शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में रोको-टोको अभियान चलाया जा रहा है। बगैर मास्क लगाए हुए लोगों को रोककर पुलिस ाऔर प्रशासन द्वारा उनके विरूद्ध चालानी कार्रवाई की जा रही है। लेकिन इसके बाद भी लोग बगैर मास्क लगाए हुए घूमते नजर आ रहे हैं। जबकि अब जिले में तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। कोरोना संक्रमण को लेकर लोग बिलकुल भी गंभीर नजर नहीं आ रहे हैं। ऐसे में संक्रमण का फैलाव भी तेजी से हो रहा है। बाजार इलाके में भीड़ भाड़ होने के चलते ही अब ग्रामीण क्षेत्रों के हालात बिगड़ रहे हैं।

नजाई मंडी में लग रही भी़ड़

गुरुवार को पुरानी गल्ला मंडी में क्षमता से अधिक भीड़ देखी गई। यहां दुकानदारों ने न तो नियमों का पालन किया और न ही ग्राहकों ने। पुरानी गल्ला मंडी के अंदर काफी संख्या में सब्जी दुकानदार सहित अन्य दुकानदार बिना मास्क लगाकर खुलेआम कोरोना महामारी की धज्जियां उड़ाते रहे। जिसके चलते हर समय ही कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहा। इतना ही नहीं यहां पहुंचे लोग भी बिना मास्क लगाए पहुंचे गए। अब सवाल यह उठता है कि फिर यह रोको-टोको अभियान कहां पर चलाया जा रहा है।

कोरोना संक्रमितों को लेकर गुरुवार को कुछ राहत रही है। हालांकि स्वास्थ विभाग द्वारा लगातार ही अलर्ट किया जा रहा है। लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं। लोगों को स्वयं ही जागरूक होकर स्वयं के साथ ही परिवार को सुरक्षित रखना चाहिए।

- डॉ. पीके माहौर, प्रभारी सीएमएचओ टीकमगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local