टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। तीसरी लहर आने के बाद हालात यह हुए हैं कि 38 सैंपलों में से सागर बीएमसी द्वारा 33 की रिपोर्ट पाजिटिव भेजी गई है। यानी 38 में से महज पांच लोगों की रिपोर्ट ही निगेटिव आई है। कोरोना वायरस को लेकर अब हालात शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में बिगड़ते जा रहे हैं। 33 कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा आने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों में अफरा तफरी मच गई। सैंपलिंग के बाद रिपोर्ट सागर से प्राप्त होते ही स्वास्थ विभाग के होश उड़ गए हैं। अब संक्रमितों को होम क्वारंटाइन कराने की कवायद चल रहीं हैं। उनके घर के बाहर पर्चा चस्पा किया जा रहा है। प्रशासन अब संबंधितों की कांटेक्ट हिर्स्टी खोजने में जुट गया। शनिवार को एक साथ 33 संक्रमित मिलने के बाद अब सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 36 हो गई है। जबकि पूर्व में प्रथम और द्वितीय लहर के दौरान टीकमगढ़ व निवाड़ी में 10 हजार 578 संक्रमित सामने आए थे।

प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी डा. पीके माहौर ने कहा कि अब जिले में तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। जागरूकता के साथ बचाव करें और नियमों का पालन करें। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण को लेकर फिलहाल गंभीरता से आमजन नहीं ले रहे हैं। यही कारण है कि वह बाजार में बगैर मास्क और सुरक्षित शारीरिक दूरी के नियमों को ताक पर रखकर घूम रहे हैं। भीड़ भाड़ बाजार में एकत्र की जा रही है। जबकि शहर में अब कोरोना संक्रमण पैर पसारता जा रहा है। हालात यह हो गए हैं कि करीब 38 सैंपल में से ही 33 संक्रमित सामने आ गए हैं। शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में अब हाल बुरे होते जा रहे हैं। लेकिन अभी तक प्रशासन द्वारा रोको टोको अभियान भी शुरू नहीं किया गया है और न ही बाजार में कोई सख्ती की गई है। इतना ही नहीं अनेक व्यापारी भी बिना मास्क लगाए ही दुकानें पर बैठे देखे जा सकते हैं। इससे कोरोना महामारी का खतरा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जतारा में 11, पलेरा में 11 और बल्देवगढ़ में चार, खरगापुर में चार, मोंगना, पिपरट, जतारा नगर में संक्रमित मिले हैं।

------------------------

प्रतिबंधों का नहीं दिख रहा असर

जिले में शनिवार को अचानक कोरोना का विस्फोट हो गया। बीती गुरुवार को कोरोना से पीड़ित तीन लोग मिले थे। वहीं निवाड़ी जिले में भी 3 संक्रमित मिले थे। लेकिन शनिवार को 33 नए संक्रमित मिलने से यह आंकड़ा 36 पर पहुंच गया। कोरोना संक्रमितों के लगातार मिलने के कारण आम लोगों में भय की स्थिति उत्पन्ना हो गई। इसके बाद भी लोग खुलेआम भीड़भाड़ वाले स्थानों पर घूम रहे है। कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार संक्रमितों के मिलने के कारण आम जनमानस में भय की स्थिति बनी हुई है। शासन द्वारा भले ही आम लोगों पर प्रतिबंध लगाए गए हो, लेकिन इसका असर किंचित मात्र भी दिखाई नहीं दे रहा है। देर रात तक होटल, रेस्टोरेंट नियमों को धता बताते हुए चल रहे हैं। वहीं रात 10 बजे तक दुकानें भी खुली रहती है, जिसका नजारा अस्पताल चौराहे पर दिखाई दे सकता है। हालांकि प्रशासन द्वारा मंदिरों के अंदर प्रवेश पर रोक लगा दी है।

--------------------------------------

बल्देवगढ़ ओर खरगापुर में कोरोना ने दी दस्तक, 8 लोग संक्रमित

8टीकेजी 10

वार्ड नंबर 7 में निकला 6 माह बाद पहला कोरोना संक्रमित

बल्देवगढ़। तहसील क्षेत्र में कोरोना का कहर फिर से प्रारंभ हो गया है। फिर भी लोग मास्क लगाना उचित नहीं समझ रहे हैं। बीएमओ सिद्धार्थ रावत ने बताया कि बल्देवगढ़ नगर के वार्ड नंबर 7 हरिजन बस्ती में एक 16 वर्षीय युवक की जांच पाजिटिव आई है। वहीं तहसील क्षेत्र के केलपुरा में भी एक 16 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। वहीं करमासन हटा में एक युवक की भी रिपोर्ट पाजिटिव आई हैं। वहीं खरगापुर तहसील क्षेत्र में भी पांच लोगों की रिपोर्ट सागर बीएमसी से पाजिटिव आई हुई है। बीएमओ ने बताया कि बल्देवगढ़ खरगापुर तहसील में कुल आठ संक्रमित में से तीन की उम्र 18 वर्ष से कम है, जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। वहीं सभी संक्रमितों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं। प्रशासन द्वारा सभी संक्रमितों को होम क्वारंटाइन किया गया है और सभी के घर पर बैरिकेट्स लगाकर उन्हें दवाइयां उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि सभी लोग मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकले सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करें वह बार बार हाथ साबुन से धोएं।

-------------------

फैक्ट फाइल

1 जनवरी से अभी तक भेजे गए सैंपल- 6001

आज पाए गए पाजिटिव- 33

वर्तमान में सक्रिय मरीज- 36

आज निगेटिव आए मरीज- 5

अभी तक हुईं मौतें- 114

----------------------

33 कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। लेकिन फिलहाल किसी भी मरीज की स्थिति गंभीर नहीं है। अभी कुछ ओर रिपोर्ट आना वाकी है, जिससे यह संख्या बढ़ भी सकती है। तीसरी लहर में अब लोगों को इसके बचाव को लेकर शासन के नियमों का पालन करना चाहिए और स्वयं जागरूक होकर अपने परिवार को सुरक्षित करना चाहिए। प्रशासन ने अस्पताल में सभी प्रकार की व्यवस्थाएं दुरूस्त कर लीं हैं।

- डा. पीके माहौर, प्रभारी सीएमएचओ, टीकमगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local