टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

चाइल्ड लाइन से दोस्ती अभियान अंतर्गत गुरुवार को जिला न्यायालय परिसर में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जहां टीम के सदस्यों ने पहुंचकर हस्ताक्षर अभियान चलाया। इसमें अधिवक्ताओं, व्यापारी, कर्मचारी और स्थानीय लोगों ने पहुंचकर हस्ताक्षर किए। पूरे दिन चले अभियान के तहत करीब 250 से 300 लोगों ने हस्ताक्षर कर चाइल्ड लाइन से दोस्ती की। सभी ने बच्चों की रक्षा सुरक्षा का संकल्प लिया। चाइल्ड लाइन का यह अभियान हस्ताक्षर अभियान के साथ समाप्त हो गया। चाइल्ड लाइन द्वारा पिछले 14 नवंबर से लगातार अभियान चलाया जा रहा था, जिसका विधिवत समापन न्यायालय परिसर में आयोजित कैंपेन के दौरान हुआ। इस आयोजन में बढ़-चढ़कर लोगों ने हिस्सा लिया।

अभियान के दौरान विधिक सेवा प्राधिकरण का समस्त स्टाफ, जिला अधिवक्ता संघ अध्यक्ष रघुवीर सिंह तोमर, उपाध्यक्ष अखलेश कुमार नापित, समस्त अधिवक्ता संघ, नवदिशा सामाजिक संस्थान चाइल्ड लाइन ने बच्चों को सुरक्षति रहने के बारे में जानकारी दी। किसी भी बच्चे को किसी प्रकार की समस्या या किसी के द्वारा छेड़खानी करने पर चाइल्ड लाइन, पुलिस 100 डायल, निर्भया हेल्प लाइन 1090, रेलवे सुरक्षा 182 पर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। सदस्यों ने कहा कि बच्चों की सुरक्षा के लिए सभी को जागरूक किया जा रहा है। यदि उनके साथ किसी भी प्रकार से अन्याय होता है तो वे संबंधित जगहों पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। प्रशासन स्तर पर बच्चों की सुरक्षा के लिए कई सख्त कानून भी बने हैं। यदि बच्चे असुरिक्षत हों तो वे अपने अधिकार और कानून का प्रयोग कर सकते हैं। बच्चों के अभिभावक भी बच्चों की सुरक्षा के लिए जागरूक हो ताकि समाज में किसी भी प्रकार से उनका शोषण या बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न हो सके। सदस्यों ने कहा कि न्यायालय परिसर में यह हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इस हस्ताक्षर अभियान के तहत कई लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। यह अभियान एक दोस्ती अभियान है जो लगातार जारी है। मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर 1503 पर फोन कर सहायता के लिए जानकारी ले सकते हैं। चाइल्ड लाइन से दोस्ती अभियान का समापन किया गया।

स्कूल और हास्टल में पहुंचकर दीं जानकारियां

चाइल्ड लाइन की टीम के सदस्यों ने शहर मुख्यालय सहित निवाड़ी और कुण्डेश्वर में स्थित स्कूलों और हास्टल में पहुंचकर बच्चों को जागरूक किया। टीम के सदस्यों ने कहा कि बच्चे अच्छे और बुरे स्पर्श को पहचाने। पास्को एक्ट, टोल फ्री नंबर पर भी बच्चे अपनी समस्या या शिकायत दर्ज करा सकते हैं। वहीं स्कूल और हास्टल में बच्चों को किसी से डरें नहीं की समझाईश दी गई। 14 नवम्बर से शुरू हुआ यह अभियान स्कूल और हास्टल के बाद न्यायालय परिसर में समाप्त हुआ। जिसमें पूरे दिन काफी संख्या में लोगों ने हस्ताक्षर किए।

यह रहे टीम में मौजूद, बच्चों को किया जागरूक

चाइल्ड लाइन की टीम में प्रमुख रूप से चाइल्ड लाइन जिला समन्वयक विनोद खरे, टीम मेंबर जितेंद्र सिंह चंदेल, काउंसलर बर्षा कुशवाहा, टीम मेंबर शिशिल नायक, अजयकांत खरे, अमन श्रीवास्तव, शिबांगी सहित कई अन्य सदस्य शामिल रहे। जिन्होंने बच्चों और उनके अभिभावकों को जागरूक किया। जितेन्द्र सिंह चंदेल ने बताया कि वर्तमान समय में छोटे छोटे बच्चों की रक्षा और सुरक्षा करना सबकी जिम्मेदारी है। इस जिम्मेदारी को सभी को पूरा करना चाहिए। इसी अभियान के तहत न्यायालय परिसर में एक बड़ा बोर्ड लगाया गया जहां लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा और अपने अपने हस्ताक्षर किए। इस हस्ताक्षर अभियान के तहत लोगों और बच्चों ने चाइल्ड लाइन की टीम से दोस्ती की। इस मौके पर कई लोग मौजूद रहे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local