मनीष असाटी। टीकमगढ़

पृथ्वीपुर विधानसभा उपचुनाव बड़ा ही रोचक होता जा रहा है। जहां पर कोई प्रत्याशी पैर छूकर आशीर्वाद मांग रहा है, तो कोई जनता के लिए किए गए कार्यों को गिना रहा है। इतना ही नहीं कई गांवों में तो प्रत्याशी भोजन भी मतदाताओं के यहां पर कर रिझाने की कोशिश कर रहे हैं। उपचुनाव को लेकर कांग्रेस-भाजपा दोनों ही दल दमखम से लगे हुए हैं। मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। भाजपा सरकार के मंत्रियों सहित विधायकों को क्षेत्र में भेजकर जातिगत समीकरण साध रही है। तो कांग्रेस सहानुभूति के साथ ही पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के साथ रहा जनता का जुड़ाव और विकास कार्यों को गिना रही है। ऐसे में अब उपचुनाव और भी रोचक होता जा रहा है। जैसे-जैसे ही मतदान की तारीख पास आ रही है। वैसे-वैसे ही चुनावी रंग सिर चढ़कर बोल रहा है। मतदाताओं ने फिलहाल चुप्पी साधी है। ऐसे में राजनीतिक दल काफी परेशान हैं।

गौरतलब है कि पृथ्वीपुर विधानसभा क्षेत्र में ब्राह्मण, कुशवाहा, रैकवार, यादव सहित अहिरवार समाज के मतदाता बड़ी संख्या में है। इस समाज के मतदाताओं को जातिगत समीकरण बैठाकर अपने-अपने पक्ष में करने की कोशिश की जा रही है। विधानसभा क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सभा की। जिससे कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की थी। इसके बाद कांग्रेस ने विधायकों को भी क्षेत्र के हिसाब से कमान दे दी । वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विधानसभा क्षेत्र में हाल ही में पांचवी बार पहुंचे, जहां पर उन्होंने भाजपा का पक्ष मजबूत करने की कोशिश की। सीएम चौहान ने तीन जातियों को एक साथ साधने की कोशिश की है। सहानुभूति से निपटना भाजपा के लिए चुनौती बना हुआ है, तो भाजपा सरकार में होने के चलते जातिगत समीकरण बैठाने की कोशिश जारी है। प्रत्येक जातिवर्ग में संबंधित मंत्री पहुंचकर प्रचार में जुटे हैं। कांग्रेस घर-घर जाकर लोगों से मिल रहे है। भाजपा की आमसभाओं में भीड़ भी देखी जा रही है। कुल मिलाकर पृथ्वीपुर विधानसभा में एक-दूसरे को कड़ी टक्कर प्रत्याशी दे सकते हैं।

कांग्रेस में दमखम दिखा रहे विधायक

प्रदेश के कई जिलों से कांग्रेस के विधायक पृथ्वीपुर विधानसभा क्षेत्र में डेरा जमाए हुए हैं। जातिगत समीकरणों को साधने की कोशिश कांग्रेस में भी हो रही है, जहां पर विभिन्ना समुदाय से आने वाले विधायकों को यहां बुलाया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह तो आ चुके हैं। वहीं लहार विधायक व पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, पूर्व मंत्री एवं विधायक हर्ष यादव, सेवड़ा से विधायक घनश्याम सिंह, पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह, पूर्व विधायक चंदा सुरेंद्र सिंह गौर, विधानसभा उपचुनाव प्रभारी ग्वालियर दक्षिण से विधायक प्रवीण पाठक, विधानसभा उपचुनाव प्रभारी महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित, विधायक मनोज चावला, सबलगढ़ से विधायक बैजनाथ कुशवाह, विधायक आलोक चतुर्वेदी, विधायक कुणाल चौधरी सहित कई नेता आ चुके हैं।

भाजपा में मंत्रियों व संगठन को कमान

भारतीय जनता पार्टी सीट पर काबिज होने के लिए तरह -तरह के प्रयोग कर रही है। जहां पर एक माह में पांच बार मुख्यमंत्री ने दौरा किया। वहीं प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा भी कई बार आ चुके हैं। यहां पर समीकरणों को बैठाने के लिए निवाड़ी के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव, टीकमगढ़ प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग, स्वास्थ मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, राज्यमंत्री भारत सिंह कुशवाह, खनिज मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव, नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री इमरती देवी, विधायक अनिल जैन, विधायक कमलेश जाटव, विधायक प्रदुम्न सिंह लोधी, ऊर्जा मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर, विधायक राहुल सिंह लोधी, विधायक राकेश गिरी, विधायक हरिशंकर खटीक, पूर्व विधायक अनीता नायक, पूर्व विधायक चौधरी मुकेश सिंह चतुर्वेदी, जिलाध्यक्ष अमित नुना व अखिलेश अयाची मैदान में डटे हैं।

दो जगह भोजन, एक जगह विश्राम

सीएम ने धामना गांव में दलित परिवार के ठाकुरदास अहिरवार के यहां भोजन किया, जहां की कमान स्वास्थ मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी को दी गई थी। इसके साथ ही चौमो में कुशवाहा समाज के काशीराम कुशवाहा के घर भोजन किया। यहां की कमान मंत्री भारत सिंह कुशवाहा को दी गई थी। इसके अलावा गरार का खिरक पहुंचकर सीएम ने रात्रि विश्राम रैकवार समाज के सीताराम रैकवार के यहां किया। जहां की कमान राजू मांझी भाजपा जिलाध्यक्ष शिवपुरी और पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महेश केवट को दी गई थी।

सपा से भाजपा में आए हैं डा. शिशुपाल

पृथ्वीपुर विधानसभा सीट 2018 में कांग्रेस के पक्ष में रही थी। यहां पर पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के निधन के बाद खाली हुई सीट पर कांग्रेस से प्रत्याशी के रूप में श्री राठौर के बेटे नितेंद्र सिंह राठौर उर्फ नीटू को मैदान में उतारा गया हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने ललितपुर जिले के जखौरा गांव के रहने वाले डॉ. शिशुपाल सिंह यादव को मैदान में उतारा है, जिन्होंने पूर्व विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा था और करीब 45 हजार वोट प्राप्त कर दूसरे स्थान पर रहे थे, जिन्होंने बाद में भाजपा का दामन थाम लिया था। 2018 के चुनाव में कांग्रेस से बृजेंद्र सिंह राठौर 7620 वोटों से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी से जीते थे। यहां पर भाजपा की जमानत जब्त हो गई थी।

2018 में राजनीतिक दलों की यह रही थी स्थिति

2018 में राजनीतिक दलों की यह रही थी स्थिति

प्रत्याशी दल वोट

बृजेंद्र सिंह राठौर- कांग्रेस- 52436

डा. शिशुपाल सिंह यादव- सपा- 44816

नंदराम कुशवाहा- बसपा- 30043

अभय प्रताप सिंह- भाजपा- 10391

पृथ्वीपुर विधानसभा क्षेत्र में मतदाता व केंद्र

पृथ्वीपुर विधानसभा में 198124 कुल मतदाता है।

- विधानसभा क्षेत्र में पुरुष 1 लाख 4829 मतदाता हैं।

विधानसभा में महिला 93268 मतदाता है।

- पृथ्वीपुर विधानसभा में 247 मतदान केंद्र रहेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local