टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

मारपीट से आहत हुए युवक ने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मारपीट से घायल युवक ने अपने पिता को पूरी घटना बताई और जब मृतक के पिता इस बात को लेकर मारपीट करने वाले लोगों को उलाहना देने गए और गांव वालों को उन्होंने पूरी घटना बताई। इसके बाद युवक ने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मारपीट की घटना से युवक इतना क्षुब्ध हुआ कि उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इस घटना से क्षेत्र भर में सनसनी फैल गई।

जानकारी के अनुसार मृतक अवैध शराब के कारोबार से जुड़ा था। सोमवार की दोपहर थाना दिगौड़ा के लुहरगुवां गांव निवासी लखन घोष का पुत्र शिवम घोष बाइक से समीपवर्ती गांव वर्माडांग गया तो स्कूल के पास चौराहे पर पुरानी रंजिश को लेकर थान सिंह घोष सहित तीन-चार लोगों ने मिलकर शिवम घोष के साथ जमकर मारपीट कर दी। शिवम घोष हमलावरों के चुंगल से छूट कर अपने घर पहुंचा और अपने माता-पिता को सारी घटना सुनाई। शिवम के माता-पिता घटना की हकीकत जानने व उलाहना देने के लिए घर से हमलावरों के गांव वर्माडांग को निकले और गांव वालों को भी घटना सुना रहे थे। इसी दौरान मारपीट की घटना से आहत लुहरगुवां गांव निवासी 18 वर्षीय युवक शिवम घोष ने अपने घर में साड़ी से फांसी लगा ली। घटना की सूचना लगते ही परिजन शिवम को फांसी के फंदे से उतारकर उपचार के लिए जिला अस्पताल टीकमगढ़ लेकर जा रहे थे तो शिवम ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। मृतक शिवम के पिता लखन घोष ने पुलिस चौकी टीकमगढ़ में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराते हुए वर्माडांग निवासी थान सिंह घोष उनके पुत्र ललित घोष अमित घोष सहित अन्य दो युवकों पर मारपीट का आरोप लगाया। मृतक के पिता लखन घोष ने बताया कि इसके पूर्व भी उक्त युवकों ने दो-तीन बार मारपीट की जिसकी पुलिस थाना दिगौड़ा में रिपोर्ट की, लेकिन राजनैतिक हस्तक्षेप होने की वजह से इस मामले में कार्रवाई नहीं की गई और यह घटना सामने आई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close