टीकमगढ़। नईदुनिया टीम

जिले भर में तीन दिन से लगातार रुक रुक बारिश हो रही है। लेकिन शुक्रवार की देर रात टीकमगढ़ सहित निवाड़ी जिले में तेज बारिश होने के साथ ही ओलावृष्टि होने से किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा है। वहीं तेज हवाएं चलने के कारण फसलें भी जमीन पर पूरी तरह से बिछ गई, जिससे किसानों को काफी नुकसान हो गया। जिला मुख्यालय के सटे ग्राम बिहारीपुरा, रमपुरा, कारी, शिवराजपुरा, रामनगर, नयाखेरा, बडौराघाट, सुनवाहा, मऊघाट में ओले गिरने से फसलें नष्ट हो गईं। तेज हवा से घरों के छप्पर तक उड़ गए। 24 घंटों में जिले में 10.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। वहीं शनिवार को अधिकतम तापमान 20.0 डिग्री सेल्सिसय और न्यूनतम तापमान 14.4 डिसे दर्ज किया गया।

किसानों ने बताया कि अचानक ओलावृष्टि से सरसों, मटर, मसूर की फसल चौपट हो गई, रही सही कसर हवा ने पूरी कर दी। बताया जाता है कि ओला गिरने के साथ ही तेज हवाएं चलने से फसल भी पूरी तरह से बिछ गई है। पिछले वर्ष जिले में पर्याप्त मात्रा में बारिश न होने के कारण किसान परेशान रहे ओर किसानों ने कम पानी वाली फसलें सरसों, मटर, चना एवं मसूर की फसल बोई थी। इसके साथ ही अधिकांश किसानों ने गेहूं की फसल भी बोई थी। बीते कुछ दिन मावठ का पानी गिरने से किसानों को राहत मिली थी, लेकिन बुधवार से लगातार हो रही बारिश के चलते किसानो की फसलें बर्बाद हो गई।

कांग्रेस नेता पहुंचे फसलों का जायजा लेने

कांग्रेस नेता शाश्वत सिंह ने बिहारीपुरा, रमपुरा, रमपुरा, बडौराघाट में जोरदार बारिश से नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण किया तथा खराब हुई फसल का सरकार से मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया।

जोरदार बारिश से फसलों को नुकसान

8टीकेजी 7 खेतो में भरे पानी से नष्ट होने की कगार पर फसलें

पृथ्वीपुर। नगर सहित आसपास के क्षेत्र में दो दिन से हो रही रिमझिम वारिश के बाद शुक्रवार की रात्रि में हुई तेज हवा और आंधी के साथ जोरदार बारिश से किसानों की फसलें चौपट होने लगी है। और कई कच्चे मकानो की छत के छप्पर भी उड़ गए। शुक्रवार की रात्रि 8 बजे से वारिश का दौर शुरू हुआ और तेज हवा और आंधी के साथ पूरी रात जोरदार वारिश होती रही, जिससे खेतों में रबी सीजन की फसलें तैयार हो रही थी, तभी निरंतर बारिश होने से जहां खेतो में पानी भर गया वहीं फसलें भी तेज आंधी हवा से जमीन पर बिछ गई है।

सर्वे कराकर मुआवजा दिलाए जाने की मांग

विधानसक्षा क्षेत्र में अतिवृष्टि से नष्ट हुई फसलों का शीघ्र सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने की मांग प्रशासन से कांग्रेस नेता नितेन्द्र सिंह राठौर ने की। विधानसभा क्षेत्र मे अतिवृष्टि से नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण करने के लिये कांग्रेस पार्टी के नेता क्षेत्र के रामनगर, हरदुपुरा, रमपुरा, विहारीपुरा, धर्मपुरा सहित एक दर्जन से अधिका ग्रामों में पहुंचे। इस दौरान कांग्रेस जिला अध्यक्ष प्रकाश सिंह दांगी, संजय कसगर, राजेन्द्र यादव, जयहिन्द्र घोष, शैलेन्द्र सिंह, पुष्पेन्द्र, अभिनव राजा नायक, रामस्वरूप कुशवाहा आदि साथ रहे।

सौ साल पुराना पीपल का पेड़ धराशायी

8टीकेजी 9

माता मंदिर परिसर में उखड़ा पड़ा पेड़

बल्देवगढ़। क्षेत्र में पिछले तीन-चार दिनों से हो रही रुक-रुक कर बारिश के चलते जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। हालांकि शनिवार को नगर में बादल छाए रहे। शुक्रवार की रात लगभग 11 बजे तेज हवा पानी के चलते मेलवार माता मंदिर प्रांगण में लगभग 100 वर्ष पुराना पीपल का पेड़ उखड़ गया। हालांकि कोई जनहानि होने की खबर नहीं है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local