टीकमगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

सूर्य देव की लुकाछिपी और धुंध के चलते शनिवार को ठंडक रही। इसके साथ ही सर्द हवाओं ने दोपहर के बाद ठिठुरन भी बढ़ा दी। इस दौरान लोग ठंड से ठिठुर रहे थे। ठंड अधिक होने के कारण सड़कों पर सन्नााटा पसरा रहा। तापमान में अधिक गिरावट दर्ज नहीं की गई है, लेकिन उत्तरी हवाएं चलने के बाद ठंड बढ़ी। इसमें मौसम विभाग ने शनिवार को कोल्ड-डे दर्ज किया है। वहीं रविवार को भी इसी प्रकार हालात रहने की संभावना बताई गई है। शनिवार को हवाओं की रफ्तार भी 10 किलोमीटर प्रतिघंटा रही। ऐसे में सर्द हवाओं के चलते पूरे दिन लोग गर्म कपड़े पहनकर घरों से निकले और अलाव तापते हुए नजर आए।

गौरतलब है कि शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 18.0 दर्ज किया गया। वहीं रात का न्यूनतम तापमान 7.7 रिकार्ड किया गया है। जबकि शुक्रवार को अधिकतम तापमान 19.6 और न्यूनतम 7.6 रिकार्ड किया गया था। दिन और रात के तापमान में कोई खास बदलाव नहीं हुआ। मौसम विभाग भोपाल के अनुसार आज रविवार को भी कोहरा रहेगा और हल्की ठंड भी पड़ सकती है। वहीं किसानों ने कहो कि ठंड बढ़ने से निश्चित रूप से फसलों को इसका लाभ मिलेगा। बीते एक पखवाड़े पूर्व मावठ की दूसरी बारिश के चलते तेज हवा के साथ ओलावृष्टि ने तांडव मचा दिया था, जिसके चलते मौसम अचानक बदल गया था, तभी से मौसम में हल्की ठंडक बनी रही , इतना ही नहीं सुबह और शाम के समय ठंडी हवाएं चलने से लोग ठिठुरते नजर आ रहे हैं। आम लोगों ने ठंड से राहत पाने के लिए न केवल आग का सहारा लिया, बल्कि गर्म हीटर जलाकर राहत महसूस की।

-------------------------

ठंड के चलते आवाजाही रही कम

ठंड के चलते मुख्य मार्गो पर शनिवार को आवाजाही कम रही। शनिवार को खास काम से ही लोग अपने घरों से बाहर निकले। ठंड के चलते आवश्यक कार्य निपटाकर सीधे अपने घर चले आए। तेज ठंड के चलते कुंडेश्वर मंदिर में भी अपेक्षा के अनुसार भीड़ नहीं दिखी। मंदिर में ज्यादा भीड़ न दिखने पर प्रशासन ने भी राहत की सांस ली। तेज ठंड के चलते सबसे ज्यादा परेशानी मूक जानवरों को उठानी पड़ी। हालांकि पशु पालकों ने अपने जानवरों को बचाने का भरसक प्रयास भी किया।

--------------------

कोहरे की आगोस में रहा शहर

मौसम वैज्ञानिक डा. अजय शुक्ला ने बताया कि 10 किलोमीटर प्रतिघंटे उत्तरी हवाएं चलने और कोहरा अधिक होने से पूरा शहर कोहरे की आगोस में रहा। जिले में कहीं भी शनिवार को धूप ठीक से नहीं खिली। कोहरा के चलते दृष्यता भी शनिवार को दिन में 300 मीटर की रही। वहीं सुबह और शाम के समय दृष्यता महज 200 मीटर ही बची हुई थी। इस दौरान लोगों को दूर तक कोहरा ही नजर आ रहा था। ठंड और कोहरा अधिक होने के कारण दिन में भी लोग वाहनों की लाइट जलाकर चल रहे थे। सड़कों पर वाहनों की संख्या भी कम रही।

----------------------

ठंड के बीच आग का सहारा

सीजन का सबसे ठंडा दिन शनिवार को रहा। इस दौरान लोग भरपूर गर्म कपड़े तो पहने ही हुए थे। साथ ही ठंड अधिक होने के कारण ठिठुरन हो रही थी, जिससे बचने के लिए लोगों ने आग का सहारा लिया। इस दौरान दुकानदारों ने आग की सिगड़ी जलाकर अपने कामकाज निपटाए। कई जगह तो अलाव लगे हुए थे, जिसमें लोग एकत्र होकर आग के पास बैठे हुए नजर आए है। ठंड ने अब इतना अधिक जोर पकड़ लिया है कि लोग बगैर मफलर और जैकेट के घर से बाहर नहीं निकल रहे है। घरों में भी रजाई ओढ़ने के बाद ठंड महसूस हो रही है। इससे निपटने के लिए लोगों अब घरों में गर्म हीटर लगा लिए है, ताकि ठंड से मुक्ति मिल सके।

------------------

यह रही तापमान की स्थिति

दिनांक- अधि.-न्यू.

10.01.22- 17.6 -13.5

11.01.22- 18.2 -11.5

12.01.22- 20.3 -9.5

13.01.22- 20.5 -7.2

14.01.22- 19.5 -7.6

15.06.22- 18.0 -7.7

-------------------------------------

कडाके की सर्दी से बचाव के लिए अलाव का लिया सहारा

ठंड की ठिठुरन से अवारा मवेशियों की हो रही मौत

15टीकेजी 5

अलाव जलाकर ठंड से बचाव करते लोग

पृथ्वीपुर। नईदुनिया न्यूज

पिछले सप्ताह नगर सहित क्षेत्र में ओलावृष्टि और हवा के साथ हुई जोरदार बारिश से ठंड की ठिठुरन बढ़ गई है और कड़ाके की सर्दी से बचने के लिए लोगों के द्वारा अलाव जलाकर सर्दी से बचाव किया जा रहा है। नगर सहित समूचे क्षेत्र में पड़ रही कडा?के की सर्दी से जहां लोगों के हाड़ कपा दिए हैं और लोग इससे बचने के लिए अपने घरों एवं कई स्थानों पर अलाव जलाकर बचाव करने में लगे हुए हैं। मकर सक्रांति पर्व से पूर्व देर रात्रि से शुरू हुए कोहरे ने मौसम में और ज्यादा ठंडक ला दी। और शनिवार को दिन भर कोहरे की धुंध बनी रही । इसी के साथ साथ जहां लोग स्वयं बचने का प्रयास कर रहे हैं वहीं अवारा मवेशी ठंड की ठिठुरन से दम तोड़ रहे हैं। लोगों ने नगर परिषद से मांग करते हुये कहा कि जिस तरह से सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाए जा रहे हैं। उसी तरह जहां जहां मवेशियों के झुण्ड रहते हैं वहां पर भी उन्हें कडाके की सर्दी से बचने के लिये अलाव की व्यवस्था बनाई जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local